*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

कविताएँ

12-08-2019 16:09:37

कवियित्री डॉ. पुष्पलता की एक रचना " गॉड "

कवियित्री डॉ. पुष्पलता की एक रचना " गॉड "....

कवियित्री डॉ. पुष्पलता की एक रचना " गॉड "

10-08-2019 19:30:41

कवियत्री डॉ. पुष्पलता की एक रचना "आज़ादी"

कवियत्री डॉ. पुष्पलता की एक रचना "आज़ादी"....

कवियत्री डॉ. पुष्पलता की एक रचना "आज़ादी"

06-08-2019 14:12:47

कुंवर विक्रमादित्य सिंह द्वारा रचित नारी पर कविता "हे कुमारी आ तुझको आज मैं दुर्गा बना दूँ"

कुंवर विक्रमादित्य सिंह द्वारा रचित नारी पर कविता "हे कुमारी आ तुझको आज मैं दुर्गा बना दूँ"....

कुंवर विक्रमादित्य सिंह द्वारा रचित नारी पर कविता "हे कुमारी आ तुझको आज मैं दुर्गा बना दूँ"

27-07-2019 19:58:08

कवि विक्रमादित्य सिंह की एक रचना "मैं हिन्दुस्तां की आवाज़ हूँ मैं बोल रहा हूँ....."

कवि विक्रमादित्य सिंह की एक रचना "मैं हिन्दुस्तां की आवाज़ हूँ मैं बोल रहा हूँ....."....

कवि विक्रमादित्य सिंह की एक रचना "मैं हिन्दुस्तां की आवाज़ हूँ मैं बोल रहा हूँ....."

15-06-2019 10:04:05

कुंवर विक्रमादित्य सिंह द्वारा रचित कविता "वृक्ष" मैं खड़ा हूँ पत्तियों संग शाखा यु फैलाये जाता ..........................

कुंवर विक्रमादित्य सिंह द्वारा रचित कविता "वृक्ष" मैं खड़ा हूँ पत्तियों संग शाखा यु फैलाये जाता ..............................

कुंवर विक्रमादित्य सिंह द्वारा रचित कविता  "वृक्ष"  मैं खड़ा हूँ पत्तियों संग शाखा यु फैलाये जाता ..........................

17-02-2019 23:51:49

कवयत्री आरती गौड़ की रचना "मुझे भी दे दो अब इजाजत हे सरकार"

कवयत्री आरती गौड़ की रचना "मुझे भी दे दो अब इजाजत हे सरकार"....

कवयत्री आरती गौड़ की रचना "मुझे भी दे दो अब इजाजत हे सरकार"

17-02-2019 23:41:57

कवयत्री आरती गौड़ की रचना "शेर हैं हम वीर भारतवासी तुम जैसे गद्दार नही "

कवयत्री आरती गौड़ की रचना "शेर हैं हम वीर भारतवासी तुम जैसे गद्दार नही "....

कवयत्री आरती गौड़ की रचना "शेर हैं हम वीर भारतवासी तुम जैसे गद्दार नही "

17-02-2019 23:30:30

मानव तो मानव ऐ जवानों तुम्हारी शहादत पर आसमा भी रोने लगा है !!

मानव तो मानव ऐ जवानों तुम्हारी शहादत पर आसमा भी रोने लगा है !! ....

मानव तो मानव ऐ जवानों तुम्हारी शहादत पर आसमा भी रोने लगा है !!

15-02-2019 23:27:03

" सुनो मेरे दिल की हर इक धड़कन क्या कहती है"

" सुनो मेरे दिल की हर इक धड़कन क्या कहती है"....

" सुनो मेरे दिल की हर इक धड़कन क्या कहती है"

28-10-2018 17:58:45

कवयत्री डॉ पुष्पलता की एक रचना "एक रिश्ता है रिसता रहता है"

कवयत्री डॉ पुष्पलता की एक रचना "एक रिश्ता है रिसता रहता है"....

कवयत्री डॉ पुष्पलता की एक रचना "एक रिश्ता है रिसता रहता है"

27-10-2018 19:30:38

कवयत्री उषा राजे सक्सेना की कविता "साँप और फरिश्ता"

कवयत्री उषा राजे सक्सेना की कविता "साँप और फरिश्ता" ....

कवयत्री उषा राजे सक्सेना  की कविता  "साँप और फरिश्ता"

22-10-2018 20:37:48

डॉ पुष्पलता की एक और रचना "जिंदगी रेत सी है मुटठी में"

डॉ पुष्पलता की एक और रचना "जिंदगी रेत सी है मुटठी में"....

डॉ पुष्पलता की एक और रचना "जिंदगी रेत सी है मुटठी में"