नव संवत पर संघ द्वारा पथ संचलन किया गया

Publish 07-04-2019 17:39:22


नव संवत पर संघ द्वारा पथ संचलन किया गया

रूडकी : आरएसएस  रुड़की द्वारा नव संवत 2076 पर नेहरू स्टेडियम में कार्यक्रम एवं एवं पथ संचलन किया गया कार्यक्रम का प्रारंभ संघ संस्थापक डॉ केशव राव बलीराम हेडगेवार के चित्र पर पुष्प अर्पित एवं आद्य सरसंघचालक प्रणाम कर किया गया स्वयंसेवकों द्वारा संघ प्रार्थना की गई श्री अंशुल द्वारा एकल गीत केशव तुम को कोटि-कोटि अभिवादन प्रस्तुत किया मुख्य वक्ता  ऋतुराज धर्म जागरण प्रमुख उत्तराखंड ने स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि संघ के 6 उत्सव में चैत्र शुक्ल प्रतिपदा नव संवत्सर पुनित उत्सव है इस दिन ब्रह्मा जी द्वारा सृष्टि की उत्पत्ति प्रकृति का उदय भगवान राम का राज्य रोहन धर्मराज युधिष्ठिर का राज्याभिषेक झूलेलाल जयंती जूते गुरु अंगद देव का जन्म दिवस आर्य समाज की स्थापना डॉक्टर हेडगेवार जी का जन्म दिवस नव दुर्गा पूजन तथा विक्रमादित्य द्वारा अपने अतुलनीय प्रक्रम द्वारा शकों को सुमेलित छेद नष्ट कर धर्म राज्य की स्थापना की गई कृतज्ञ प्रजा द्वारा चैत्र शुक्ल वर्ष प्रतिपदा को विक्रम संवत का प्रारंभ किया गया भारतीय कालगणना पूर्णतया वैज्ञानिक एवं विश्व में सबसे पुरानी है

मुख्य वक्ता  ऋतुराज धर्म जागरण प्रमुख उत्तराखंड ने कहा कि सनातन धर्म उसी महान संस्कृति का वाहक है जिसे भगवान श्री राम श्री कृष्ण महावीर स्वामी गौतम बुध तथा गुरु नानक देव ऋषि मुनियों संतो के तब से समाज में आदर्श मूल्य स्थापित किए भारतीय संस्कृति के आधार मूल्य सर्वे भवंतु सुखी न वसुदेव कुटुंबकम सभी प्राणियों में सद्भावना हो विश्व का कल्याण हो नर सेवा नारायण सेवा के माध्यम से ही संघ विश्व शांति एवं कल्याण देखता है सन का उद्देश्य व्यक्तित्व निर्माण कर राष्ट्र को परम वैभव पर ले जाना है इसके लिए संघ स्थापना 1925 से ही संग शाखाओं के माध्यम से राष्ट्र निर्माण में पंचशील है तथा राष्ट्र के लिए समर्पित स्वयंसेवकों को संगठित करता है जो राष्ट्र को भारत माता मान कर राष्ट्र सेवा करते हैं संघ शाखा व्यक्तित्व निर्माण की कार्यशाला है उन्होंने संघ की शाखा से जुड़ने का आह्वान किया तथा अनुशासित व्यवस्थित संगठन शक्ति द्वारा राष्ट्रहित के राष्ट्र में अपनी आहुति का योगदान देना ना भूलें उन्होंने कहा प्रजातंत्र में प्रत्येक व्यक्ति को मौलिक अधिकार प्रदान किए गए हैं परंतु अपने मूल कर्तव्य को ना भूले पथ संचलन के लिए हजारों गणवेश धारी स्वयंसेवकों द्वारा नेहरू स्टेडियम से तीन टोली में निकलकर रामनगर गणेशपुर सिविल लाइन होते हुए वापस एक साथ नेहरू स्टेडियम में पहुंचे पथ संचलन पर जगह-जगह नगर वासियों द्वारा फूलों की वर्षा तथा जोश में भारत माता के जयकारे लगाए गए स्वयंसेवकों का अनुशासन देखकर दर्शक बहुत प्रभावित हुए कार्यक्रम में रामेश्वर, प्रवीण, जल सिंह, सतीश, भारत भूषण, रमेश, नितिन, अनिल, संजय, राजपाल, राजेश, महेश, सुशील, नरसिंह, जयवीर, अंशुल, विनोद, संदीप, नवीन, पवन, अमरीश, आंजना, कुलदीप, नरेश, रिशिपाल, रामपाल, संजीव, महेंद्र, राज कुमार, विपिन, चंद्र प्रकाश, राहुल, सोमनाथ, अशोक, डॉक्टर आलोक, त्रिलोक, राजीव, रवी, योगेंद्र, हरपाल, अरविंद, प्रदीप, हरिमोहन, शिवप्रसाद, प्रवीण, राजेंद्र, सुदेश, अमित, मनोज, राजीव जोशी, जिला प्रचारक नीरज और जिला प्रचार प्रमुख  सहदेव सहित आदि स्वयं सेवक उपस्थित रहे.

To Top