*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

गोल्डन जुबली गढ़वाल दिवस के भव्य आयोजन के लिए तैयारी करें - जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल

31-05-2019 22:57:19

पौड़ी : जनपद पौड़ी गढ़वाल के जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने शुक्रवार को  विकास भवन सभागार में जिला सैक्टर, राज्य पोषित एवं राज्य टास्क फोर्स कार्य की समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने गत वित्तीय वर्ष के अवशेष खर्चों की क्रमवार जानकारी लेते हुए कार्य को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये। जबकि पूर्ण हुए कार्यों को लेकर उन्होंने उप जिलाधिकारी एवं खंड विकास अधिकारी के अध्यक्षता में समिति गठित कर जांच करवाने को निर्देश दिये। वित्तीय वर्ष 2019-20 के जिला योजना में विभागों द्वारा प्रस्तावित मांग पर योजनावार चर्चा की गई।
जिलाधिकारी ने कृषि एवं आजीविका को बढ़ावा देने वाली योजनाओं पर अधिकारियों को ठोस कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने नैनीडांडा में पटेलिया फार्म  में नर्सरी  विकसित करने हेतु उद्यान विभाग को ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत कार्य करने को कहा। इस बाबत उन्होंने विभाग को नर्सरी की सुरक्षा आदि के लिए कार्मिक, सुरक्षा दीवार निर्माण, जल संस्थान एवं उरेडा को जरूरी उपकरण लगाने के निर्देश दिये। साथ ही पौधों की रखरखाव व निरीक्षण हेतु विशेषज्ञों की भी गतिविधियों की रोस्टर तैयार करने को कहा। संस्कृति विभाग को निर्देशित किया कि प्रेक्षागृह को नगर पालिका पौड़ी के लिए एमओयू के आधार पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। कहा कि इससे प्रेक्षागृह के रखरखाव के साथ-साथ आय में भी इजाफा होगा। उन्होंने जून माह के अंत में गोल्डन जुब्ली गढ़वाल दिवस के भव्य आयोजन के लिए तैयारी करने के निर्देश दिये। वहीं खिर्सू में होम स्टे को लेकर चयनित परिवारों को लोक कला का प्रशिक्षण देने को कहा। जिससे क्षेत्र में आने वाले पर्यटकों को  कुछ अलग देखने को मिल सके। सिचाई विभाग की समीक्षा के दौरान कोटद्वार में पनियाली नदी पर सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए प्रस्तावित तीन चैकडेमों के प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश दिये। ताकि समय पर सुरक्षात्मक कार्य किया जा सके। वन विभाग को अपने क्षेत्रांतर्गत ऊपरी भाग में सफाई एवं सुरक्षात्मक कार्य कराने के निर्देश दिये।

पशुपालन विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि किन्ही दो गांव में खड़कनाथ मुर्गी के अंडे के व्यवसाय हेतु मुर्गी पालन करवाने के लिए प्रशिक्षण देते हुए मुर्गी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। संबंधित दो गांव को पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू करेंगे। डेरी विकास की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने दुग्ध एवं दुग्ध से निर्मित उत्पादों की गुणवत्ता बनाने हेतु संबंधित अधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। कहा कि उत्पादों के प्रति इच्छा शक्ति को बढ़ाते हुए पशुओं को दी जाने वाली चारे की गुणवत्ता में सुधार लायें। जल संस्थान एवं जल निगम की योजनाओं की चर्चा के दौरान उन्होंने क्रमवार पंपिंग योजनाओं की जानकारी ली। जिस पर ढिकवाल गांव पंपिंग योजना, कोला पातल पंपिंग योजना पर तत्काल विद्युत लाइन जोड़ने हेतु कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जिस हेतु उन्होंने अधिशासी अधिकारी विद्युत विभाग को निर्देश जारी किये। उन्होंने अधिशासी अधिकारी लोनिवि को सर्किट हाउस और लोनिवि गेस्ट हाउस के अपग्रेड हेतु शासन को प्राक्कलन भेजने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने लोनिवि के कार्यों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्यों में गुणवत्ता एवं पारदर्शिता बरतने के निर्देश दिये। उन्होंने जिला सेक्टर वित्तीय वर्ष 2018-19 में लोनिवि को पूल्ड हाउस में अवशेष धनराशि 33.37 लाख, पेयजल निगम के 57.54 लाख, पेयजल संस्थान के 20.65 लाख, सिंचाई के 178.74 लाख एवं राज्य सेक्टर में जल निगम 1627.56 लाख, जल संस्थान 47.41 लाख, पंचायतराज 58.45 लाख, विधायक निधि 2286.90 व केंद्र पोषित में सांसद निधि से 129.59 लाख, प्राथमिक विद्यालय में 789.83 लाख, पंचायतराज में 280.04 लाख, स्वजल 288.17 लाख की धनराशि के कार्यों की जानकारी लेते हुए योजनाओं को समय पर पूर्ण करने हेतु विभागों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह, डीएसटीओ निर्मल कुमार शाह, परियोजना अर्थशास्त्री दीपक रावत, सीएओ डीएस राणा, सीएमओ बीएस जगपांगी, मुख्य उद्यान अधिकारी डा0 नरेंद्र कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी जेएस कंडारी, ईई जल संस्थान एसके गुप्ता, पशु चिकित्साधिकारी डा0  एसके सिंह समेत संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।