मतगणना को लेकर जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक दिशा निर्देश

Publish 01-05-2019 17:33:59


मतगणना को लेकर जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक दिशा निर्देश

पौड़ी : लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 की मतगणना प्रक्रिया को निष्पक्ष एवं सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने हेतु आजबुधवार को  जिला पंचायत सभागार, पौड़ी में जिला मजिस्ट्रेट/जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने ईटीपीबीएस (इलैक्ट्रोनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम) प्रशिक्षण कार्याशाला की अध्यक्षता करते हुए मतगणना कार्मिकों को सम्बोधित करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कार्याशाला में प्रशिक्षक एवं मास्टर ट्रेनरों के द्वारा ईटीपीबीएस की प्री काउटिंग के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। जिलाधिकारी ने कहा कि लोक सभा चुनाव में पहली बार सर्विस वोटर के लिए ईटीपीबीएस का प्रयोग किया जा रहा है। कहा कि देश के सर्विस वोटरों में पौड़ी का दूसरा स्थान है, जिसमें लगभग 34 हजार सर्विस वोटर है। बताया कि अब तक 19 हजार से अधिक मतपत्र पहुंच चुके है। कहा कि ईटीपीबीएस के माध्यम से मतगणना हेतु 120 टेबिल लगाई जा रही है, जिन पर 03 शिफ्टों में मतगणना कार्मिक द्वारा कार्य किया जाना है। उन्होंने सभी मतगणना कार्मिकों को जिम्मेदारी एवं धैर्यपूर्वक प्रशिक्षण लेते हुए कार्यों को सफलतापूर्वक सम्पन्न करने के निर्देश दिये। कहा कि एक-एक वोट की कीमत है, प्रशिक्षण में बताये जा रहे सभी बिन्दुओं को ध्यानपूर्वक सिखे एवं समझे। साथ ही बुकलेट एवं हैण्डबुक का भी अध्ययन अनिवार्य रूप से करें। कहा कि जो भी संशय एवं शंकायें हैं, उनका समय रहते ही प्रशिक्षण के दौरान समाधान करा लें। जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी विधान सभा क्षेत्र की सभी टेबिलों पर जब प्री काउटिंग का पहला राउण्ड पूरा हो जाये, उसके बाद ही एआरओ के कहने पर ही दूसरा राउण्ड शुरू करेंगें।


इससे पूर्व ईडीएम प्रकाश चौहान ने प्रेजेन्टेंशन के माध्यम से मतगणना कार्मिकों को ईटीपीबीएस प्रशिक्षण की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि 120 कम्प्यूटरों को नेट से जोड़ा जायेगा तथा प्री कांउटिंग में क्यूआर कोड की स्केनिंग 05 बार में होगी। बताया कि प्री कांउटिंग में सबसे पहले फार्म 13-सी (आउटर एनवलप) में जो क्यूआर कोड है की स्कैनिंग होगी। स्कैनिंग के बाद लिफाफे को फाड़ना है, जिसके अन्दर फार्म 13-ए एवं फार्म 13-बी होगा। फिर फार्म 13-ए (डिक्लेरेशन या ऑथरिटी लेटर) में दो क्यूआर कोड होंगे की स्कैनिंग होगी तथा उसके बाद फार्म 13-बी (इनर एनवलप) में दिये गये क्यूआर कोड की स्कैनिंग होगी। प्री कांउटिंग में पांचवा और अन्तिम क्यूआर कोड की स्कैनिंग तब होगी जब उस विधान सभा क्षेत्र के सभी टेबिलों पर चार क्यूआर कोड की कार्यवाही पूरी हो चुकी होगी।


इस मौके पर एआरओ ईटीपीबीएस/पीबी एम एम खान, प्रशिक्षक डॉ. अशोक, के.डी. नारायण के द्वारा भी ईटीपीबीएस प्री कांउटिंग की जानकारी दी गई। बताया कि रिजेक्टीड फार्म पिंक लिफाफे में एवं वैलिड फार्म ग्रीन लिफाफे में रखें। कहा कि फार्म-ए में वोटर के हस्ताक्षर एवं संबंधित अधिकारी का पदनाम सहित हस्ताक्षर जरूर चैक कर लें। अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह, एआरओ चौब्ट्टाखाल सौरभ असवाल, जिला विकास अधिकारी वेदप्रकाश, डीएसटीओ निर्मल शाह, नोडल अधिकारी प्रदीप बिष्ट, नोडल अधिकारी ईडीसी देवेन्द्र सिंह राणा, पीडी डीआरडीए दीपक रावत एवं मास्टर ट्रेनर सहित मतगणना कार्मिक उपस्थित थे।

To Top