जिलाधिकारी ने फलस्वाडी गांव में विकास कार्यो का किया निरीक्षण, गांव में चलाया सफाई अभियान

Publish 06-06-2019 13:32:42


जिलाधिकारी ने फलस्वाडी गांव में विकास कार्यो का किया निरीक्षण, गांव में चलाया सफाई अभियान

पौड़ी : विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कोट ब्लाक के फलस्वाडी गांव में आयोजित विभिन्न कार्यक्रम में शिरकत किया। इस दौरान ब्लाक प्रमुख कोट सुनील लिंगवाल, मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह व अपर जिलाधिकारी डा0 एस.के. बरनवाल सहित अन्य पदाधिकारियां ने कार्यक्रम में बढचढ़ कर हिस्सा लिया। जिलाधिकारी ने फलस्वाड़ी गांव में पहाड़ी शैली एवं आधुनिक तकनीक से निर्मित पिंक कम्युनिटी टॉयलेट का विधिवत उद्घाटन किया। उन्होने शौचालय का निरीक्षण कर अन्य ब्लाकों के गांव में भी इस प्रकार के शौचालय बनाने को कहा। इसके उपरान्त जिलाधिकारी कार्यक्रम स्थल सीतामाता मंदिर परिसर पहुंचे जहां उन्होने मंदिर में पूजा अर्चना के साथ दर्शन कर, आयोजित संपूर्ण स्वच्छता कार्यक्रम की अध्यक्षता की। जबकि वृद्ध ग्रामीण देवेन्द्र सिह से गांव की धार्मिक स्थल एवं मान्यता की विस्तार पूर्वक जानकारी ली।


    जिलाधिकारी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि गांव में सफाई व्यवस्था काफी अच्छी है। सफाई के साथ -साथ यहां सभी घर आगन में फूलवारी लगाना चाहिए जिससे गांव की सुन्दता ओर बिखरेगी। उन्होने महिला समूह द्वारा गांव में लेमन ग्रास पर कार्य करने पर प्रसंता जाहिर करते हुए लेमनग्रास की महत्वता के बारे में बताया। उन्होने कहा कि राज्य सरकार उक्त गांव को धार्मिक पर्यटन सर्किट के रूप में परियोजना बना रही है। श्रीनगर से यहां तक विभिन्न धार्मिक स्थल को जोड़ा जायेगा। स्वराज दर्शन के तहत इसकी प्रस्ताव स्वीकृति हेतु भारत सरकार को भेजा जायेगा। जल्द ही यहां पर राज्य सरकार एक महत्वपूर्ण बैठक करने जा रहे है। उन्होने कहा कि उक्त परियोजना के तहत यहां आर्किटेक विशेषज्ञ आयेगें, जिनको गांव की ऐतिहासिक, धार्मिक आदि महत्व पूर्ण जानकारी जरूर दें।

जिलाधिकारी ने गांव में पेयजल की मांग पर सोलर पम्प लगाने के निर्देश दिये। जबकि कृषि एवं उद्यान विभाग से कास्त भूमि को घेरबाड़ कराने की बात कही। उन्होने संबंधित अधिकारियों के साथ गांव में विकास कार्यो निरीक्षण कर, गांव में सफाई अभियान चलाया। प्लास्टिक की कूड़ा पाये जाने पर उन्होने बीडीओ को निर्देशित करते हुए कहा कि एक गहरी गड्डा बनाकर उसमें अजैविक कूडे का निस्तारण करें। गांव के ऊपरी छोर में जानवरों से सुरक्षा हेतु घेरबाड लगाने की मांग पर जिलाधिकारी ने प्राकलंन तैयार कर प्रेषित करने को कहा। कार्यक्रम में खण्ड विकास अधिकारी ने गांव की रूपरेखा एवं विभिन्न विकास योजनाओं की जानकारी दी। जबकि ब्लाक प्रमुख एवं मुख्य विकास अधिकारी ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। जैविक अजैविक कूड़े के सही निस्तारण के साथ गांव को स्वच्छ, स्वस्थ्य एवं सुन्दर बनाये रखने को कहा।  इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी वेदप्रकाश, एपीडी सुनील कुमार, डीएसटीओ निर्मल शाह, परियोजना प्रबंधक स्वजल दीपक रावत सहित ग्रामीण जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

To Top