जिलाधिकारी ने सभी माइक्रो आब्जर्वर को कार्यों के प्रति उदासीनता न बरतने के दिए सख्त निर्देश

Publish 05-04-2019 22:39:20


जिलाधिकारी ने सभी माइक्रो आब्जर्वर को कार्यों के प्रति उदासीनता न बरतने के दिए सख्त निर्देश


पौड़ी | सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री डा0 धन सिंह रावत ने अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक ली। पर्यटन, लोक निर्माण, पीएमजीएसवाई, शिक्षा, वन विभाग, पेयजल, विद्युत, एनएच, उद्यान, पुलिस, नगर पालिका श्रीनगर आदि की समीक्षा के दौरान उन्होंने सभी विभागों को निर्देशित किया कि पुराने लंबित कार्यों को वित्तीय वर्ष समाप्त होने से पूर्व ही पूरा कर लें। डा0 धन सिंह रावत द्वारा पीएमजीएसवाई द्वारा संचालित विभिन्न रोड़ों के निर्माण व रखरखाव के निर्देश दिये। उन्होंने कतिपय रोड़ों की समीक्षा लेते हुए कहा कि जिन रोड़ों में कुछ बजट कम होने के कारण पूर्ण नहीं हो पा रही हैं। उनकी सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने संबंधित विभागों को जिला प्लान के तहत संचालित येाजनाओं को भी तत्काल पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जहां भी कुछ बजट की कमी होती है तो मुझे उसका प्रस्ताव बनाकर दें। ताकि उस कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण किया जा सके।  डा0 धन सिंह रावत ने विभागों से विकास कार्यों में धन की कमी आड़े न आने देने के निर्देश दिये। बूंगीधार में गेस्ट हाउस की समीक्षा की दौरान उन्होंने संबंधित विभाग को स्टिमेट बनाने के निर्देश दिये। समीक्षा के दौरान थलीसैंण में गेस्ट हाउस बिना धन की स्वीकृति के बिना ही उद्घाटन का मामला प्रकाश में आने पर उन्होंने जांच कराने के निर्देश दिये। थलीसैंण और पीठसैंण में भी गेस्ट हाउस बनाने के प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विभाग अपना लक्ष्य आधी अधूरी रोड़ों को पूरा करने कर ध्यान दें ना कि नई योजनाओ  पर। उन्होंने कहा कि पहले प्राथमिकता पुरानी पड़ी योजनाओं को पूर्ण किया जाए ताकि उसका लाभ आम जनता के मिल सके। उन्होंने विभागों को कहा कि विधानसभा श्रीनगर में जो भी अधूरे कार्य लंबित हैं उनका शीघ्र ही प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें। इस दौरान पर्यटन विभाग की समीक्षा में उन्होंने श्रीनगर में स्थित टूरिस्ट हाउस के क्षतिग्रस्त भवन का संज्ञान लेते हुए पर्यटन अधिकारी को तत्काल निरीक्षण करने के उपरान्त भवन का सुदृढ़ीकरण हेतु प्रस्ताव तैयार करने को कहा। उन्होंने वन एवं पर्यटन विभाग को जनपद में स्थापित विभिन्न धार्मिक स्थलों का जीर्णोद्धार करने हेतु प्रस्ताव तैयार करने को कहा। ताकि पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सके। उन्होंने धारीदेवी क्षेत्र में स्थित झील का निरीक्षण एवं परीक्षण करने के उपरान्त बोटिंग चलाने के निर्देश दिये। उन्होंने इस दौरान जनपद में निर्माणाधीन हैलीपैड़ों की भी समीक्षा की।  उन्होंने जिन हैलीपैड़ों के लिए भूमि चयनित कर ली गई है उनकी डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिये।  इस दौरान डा0 धन सिंह रावत ने पाबौ पम्पिंग योजना के डीपीआर तैयार करने तथा खिर्सू - ढिकवालगांव पंपिंग योजना की भी समीक्षा की। उन्होंने पाबौ में कालेज व पैठाणी में व्यवसायिक कालेज खुलवाने की बात कही। लोनिवि की समीक्षा के दौरान उन्होंने संबंधित विभाग को निर्देशित किया है कि मुख्य रोड़ जिन्हें पक्की होनी हैं उनके प्रस्ताव तत्काल उपलब्ध करायें। नगर पालिका श्रीनगर की समीक्षा के दौरान उन्होंने पालिका को ऑडिटोरियम  निर्माण हेतु भूमि चयनित करने के साथ ही अग्रिम कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने डीपीआरओ एवं डीडीओ को जनपद में प्रस्तावित सौ पुस्तकालयों के निर्माण हेतु डीपीआर तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर जिलाधिकारी सुशील कुमार ने उपस्थित अधिकारियों को डा0 धन सिंह रावत द्वारा दिये गये निर्देशों  के तहत विकास कार्यों को समयबद्ध, पारदर्शिता तथा गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने को कहा। इस मौके पर डा0 धन सिंह रावत का धन्यवाद भी ज्ञापित किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जेआर जोशी, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, उप जिलाधिकारी श्रीनगर एमडी  जोशी, तहसीलदार सुनील राज, जिला शिक्षाधिकारी एमएस रावत, जिला उद्यान अधिकारी डा0 नरेंद्र कुमार, जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भंडारी, अधिशासी अभियंता लोनिवि सुरेश तोमर, नगर पालिका के ईओ समेत संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।