आंख की रोशनी नहीं लौटी व्यथित होकर महिला ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

Publish 14-04-2019 18:52:24


आंख की रोशनी नहीं लौटी व्यथित होकर महिला ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

लखनऊ /उत्तर प्रदेश (रघुनाथ प्रसाद शास्त्री): यूपी उन्नाव के बांगरमऊ  में इलाज में पैसा खर्च होने के बाद भी जब आंख की रोशनी नहीं लौटी तो उससे व्यथित होकर महिला ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
कोतवाली क्षेत्र के तमोरिया बुजुर्ग की एक महिला का शनिवार को  कमरे की धन्नी में रस्सी के सहारे फांसी से लटकता शव मिला। परिवारीजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतार पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मृतका का पति पंजाब में रहकर मजदूरी करता है । मृतका की कई वर्ष पूर्व बीमारी के चलते आंखों की रोशनी चली गई थी जिसका इलाज चल रहा था लेकिन काफी धन खर्च होने के बावजूद उसकी आंखों की रोशनी नहीं लौटी जिससे वह व्यथित थी और बीमारी से ऊबकर फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतका का पति सूचना मिलते ही घर आया और पत्नी के शव को देख बिलख पड़ा। आस-पास के ग्रामीणों ने उसे ढांढस बंधाया।

To Top