सेवा निवृत्त कर्मचारी एवं पेंशनर एसोसिएशन ललितपुर ने जिलाधिकारी ललितपुर को दिया ज्ञापन

Publish 11-01-2019 19:10:56


सेवा निवृत्त कर्मचारी एवं पेंशनर एसोसिएशन ललितपुर ने जिलाधिकारी ललितपुर को दिया ज्ञापन

ललितपुर,यू पी ( एड. प्रमोद सक्सेना ): सेवा निवृत्त कर्मचारी एवं पेंशनर एसोसिएशन ललितपुर के जिलाध्यक्ष जे के सिंह ने अपने अन्य पदाधिकारियों सहित मान. जिलाधिकारी ललितपुर मानवेन्द्र सिंह को एक ज्ञापन दिया जिसमें शासन ने चिकित्सा प्रतिपूर्ति बन्द कर दी गई है उसे पूर्व की भांति प्रारम्भ करने की मांग की है  ।  पुरानी पेंशन बहाली को तत्काल लागू करने की मांग की है तथा पेंशनरों की पेंशन जो संशोधित नही हुई है उनको शीघ्र करने की मांग की है । उन्होंने बताया कि राजघाट निर्माण खण्ड से 1989 में सेवा निवृत्त हुए महावीर प्रसाद सक्सेना की पेंशन संशोधन हेतु वित्त नियंत्रक कार्यालय ,प्रमुख अभियंता सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश लखनऊ में 14.08.2018 से पड़ी है परंतु कोई सुनवाई नही हो रही है ।  पी डब्लू डी से सितम्बर 18 में रिटायर्ड हुये  महेंद्र पाठक को अभी तक पूर्ण भुगतान नही हुए है।
जिलाध्यक्ष जे के सिंह ने निवेदन किया है कि  उपरोक्त बिंदुओं पर विचार कर निस्तारण किया जावे  नही तो संगठन को धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होना पड़ेगा । उत्तर प्रदेश शासन द्वारा दिनांक 23 दिसंबर 16 एवं 18 जुलाई 17  को जारी किए गए शासनादेश में स्पष्ट निर्देश है कि वर्ष 2016 के पूर्व के  पेंशनर की पेंशन के पुनरीक्षण हेतु पूर्व निर्गत आदेशों के अनुसार विभागाध्यक्षो /  कार्यालयाध्यक्षों द्वारा की जाने वाली कार्यवाही के लिए पेंशनरों से किसी प्रकार की सूचना अथवा आवेदन प्राप्त किए जाने की आवश्यकता नहीं है । संबंधित विभागाध्यक्षो/कार्यालयाध्यक्षो द्वारा निर्गत शासनादेशों के अधीन कार्यवाही स्वत तत्काल की जावे । लेकिन राज घाट निर्माण खंड ललितपुर की बात ही निराली है । राज घाट निर्माण खंड ललितपुर से जनवरी 1989 में रिटायर हुए वरिष्ठ सहायक महावीर प्रसाद सक्सेना ने दिनांक 16. 10 .2017 को स्वयं प्रार्थना पत्र देकर पेंशन पुनरीक्षण के लिए निवेदन किया । लगभग 10 माह तक चक्कर काटने के पश्चात राज घाट निर्माण खंड ललितपुर के संबंधित पटल लिपिक  ने कहा की आप की पेंशन संबंधी मूल पत्रावली राज घाट निर्माण खंड ललितपुर में उपलब्ध नहीं है और खो गई है ।अब यदि आपको अपनी पेंशन पुनरीक्षण करानी है तो ट्रेजरी से आपकी पेंशन फाइल की फोटो कॉपी  मंगानी होगी तथा बाहर के व्यक्ति से पेंशन पुनरीक्षण कागजात तैयार कराना होगा  जिसका समस्त खर्चा आपको देना होगा । श्री महावीर प्रसाद सक्सेना ने ट्रेजरी खर्चा एवं पेंशन पुनरीक्षण फाइल तैयार कराने का समस्त खर्चा संबंधित पटल लिपिक को दिया । इसके बाद उक्त पुनरीक्षण फाइल तैयार हो सकी। तब उक्त पेंशन पुनरीक्षण  प्रपत्रों को राज घाट निर्माण खंड ललितपुर ने अपने पत्र संख्या 1372 दिनांक 14.08.2018 को वित्त नियंत्रक कार्यालय, प्रमुख अभियंता सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश लखनऊ को भेजा, साथ ही वित्त नियंत्रक कार्यालय, प्रमुख अभियंता सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश लखनऊ के कार्यालय में कार्यरत  वर्मा जी का मोबाइल नंबर 9794786111 भी दिया  तथा कहां की आप उक्त वर्मा जी से बात कर लीजिए यदि आपने लखनऊ ऑफिस का खर्चा उक्त वर्मा  जी को दे दिया तो आप की पेंशन संशोधित होकर आ जाएगी वरना आप सालों चक्कर काटते रहेंगे और हुआ भी यही । सुविधा शुल्क ना देने के कारण आज साढ़े चार माह व्यतीत हो जाने के बाद भी  लखनऊ से पेंशन संशोधित होकर नहीं आई। पेंशन धारक प्रार्थी लगभग 88 वर्ष का वृद्ध है जो रोज रोज ऑफिस के चक्कर काटने में असमर्थ है और राज घाट निर्माण खंड के अधिकारी एवं कर्मचारी शासनादेश की स्पष्ट मंशा के अनुरूप सहयोग नहीं कर रहे हैं । और इसी बजह से आज सेवा निवृत्त कर्मचारी एवं पेंशनर एसोसियशन ललितपुर को ज्ञापन देने को बाध्य होना पड़ा ।

To Top