ब्रेकिंग न्यूज़ !
    *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

    तीन जोड़ो का हिंदू रीति-रिवाज से विवाह हुआ सम्पन्न

    28-04-2019 20:50:25

    कोटद्वार (गौरव गोदियाल):  भारत विकास परिषद कोटद्वार द्वारा आयोजित सामुहिक विवाह के अंतर्गत रविवार को गोविन्द नगर स्थित दीपक वैडिंग प्वाइंट में आयोजित सामूहिक विवाह में तीन जोड़े विवाह सूत्र में बंधे। सभी जोड़ो को वन एवं पर्यावरण मंत्री के द्वारा आचार संहिता समाप्त होने के बाद ग्यारह हजार रुपये की एफडी देने की बात कही ।पंडितों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार, विधि विधान के साथ विवाह रश्म सम्पन्न कराया गया। विवाह कार्यक्रम में वर-वधू ने एक दूसरों को जयमाला पहनाया तथा एक साथ वैवाहिक जीवन व्यतीत करने की संकल्प ली। वर वधू को दोनों पक्ष के माता-पिता, अभिभावक, रिश्तेदारों ने फूलों की वर्षा करकें आशीर्वाद दिया।आयोजन में जोड़ों को कबीना मंत्री डाॅ हरक सिंह रावत द्वारा विवाह प्रमाण पत्र सहित कई उपहार दिए गए। कबीना मंत्री डाॅ हरक सिंह रावत ने कहा कि सामूहिक विवाह कार्यक्रम सामजिक सदभाव, समरसता तथा ऊच नीच के भेद को मिटाने वाला है। उन्होंने सभी विवाहित जोडों को उनके सुखी वैवाहिक जीवन के लिए बधाई तथा शुभकामनायें व्यक्त की। उन्होंने कहा कि ग़रीब तबके की बेटियों के घर बसाने के लिए संस्था का सराहनीय कदम है,जिसमें जो अभिभावक अपनी बेटी के विवाह में बड़ा पंडाल भव्य मंच नही कर पाते थे, इस भारत विकास परिषद से उन्हें काफ़ी राहत मिली। उन्होंने कहा कि वर वधु अपने जीवन मे सुखमय तरीके से निर्वाहन करें ऐसी कामना करता हूं। वर-वधु पूरा जीवन एक दूसरे के पूरक बनकर रहे। सास बहू को बेटी माने औऱ बहु सास को अपनी माँ समझे। दूल्हा भी घर की शांति के लिए अपना संतुलन बनाकर चले। संस्था के अध्यक्ष ने कहा कि दहेज जैसी सामाजिक बुराइयों को दूर करने और गरीबों को अपनी बेटी के विवाह के लिए अभिभावकों को कर्ज लेने से बचाने हेतू हमारे द्वारा यह पहल की गयी थी । पालक अपनी बेटी को शिक्षा और विकास का बेहतर अवसर मुहैया कराएं बेटियां शिक्षित और आत्म निर्भर होंगी तब पूरे परिवार के विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। वही नवदंपतियों को गृहस्थी साम्रगी दी गई समारोह का संचालन करते हुए गोपाल बंसल ने बताया कि सभी जोड़ो को घरेलु उपयोग के सामान भी उपहार स्वरुप दिये गए है। इस विवाह समारोह में भारत विकास परिषद ने सभी जोड़ों को मंगलसूत्र ,बर्तन, चांदी का लाॅकेट, बिछिया, दो सेट कपड़े, ड्रम, परात, पेटी, गद्दा, रजाई, श्रृंगार के सामान सहित अन्य गृहस्थी की सामग्री प्रदान की गई।इस मौके पर सभी  जोड़ों ने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि उन्हें इस शादी में इतने सारे सामान मिलेंगे।