*** सभी ग्रामवासियों को गाँधी जयंती और विजय दशमी दशहरा की हार्दिक शुभकामनायें - शेर अली , प्रधान प्रत्याशी पति ग्राम पंचायत रायापुर *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

राम-भरत मिलाप के दृश्य से दर्शकों की आंखें हुई नम

09-10-2019 21:27:29

कोटद्वार । रामलीला के ग्यारहवें दिन राजकुमार भरत के वनवास को गए राम से मिलने जंगल पहुंचकर उनसे वापस अयोध्या चलने की प्रार्थना करने और राम के इनकार करने के प्रसंग का मंचन किया गया। इस दौरान राम और भरत के बीच हुई बातचीत के भावपूर्ण संवाद ने दर्शकों को प्रभावित किया।

श्री रामलीला कमेटी मालवीय उद्यान की ओर से हर साल की तरह कोटद्वार में रामलीला का आयोजन किया जा रहा है। रामलीला के 11वें दिन नाटक मंडली के कलाकारों ने राम और भरत मिलाप के प्रसंग का सजीव मंचन किया गया। सबसे पहले अयोध्या लौटे राजकुमार भरत भाई राम को चौदह साल के वनवास भेजने को लेकर मां कैकेयी से मिलकर नाराजगी प्रकट करते हैं। इसके बाद वे चित्रकूट के वन में जाकर भाई राम से मिलते हैं और वापस अयोध्या चलकर राजपाट संभालने का प्रस्ताव उनके सामने रखते हैं। लेकिन राम पिता की आज्ञा का हवाला देकर इससे मना कर देते हैं। इस पर भरत भगवान राम की खड़ाऊ लेकर वापस लौट जाते हैं। राम और भरत के मिलन के दौरान उन दोनों के बीच हुए संवादों से प्रभावित होकर दर्शकों ने जमकर तालियां बजाई।