मेयर हेमलता नेगी ने विकास प्राधिकरण को समाप्त करने की मांग की

Publish 14-05-2019 18:09:24


मेयर हेमलता नेगी ने विकास प्राधिकरण को समाप्त करने की मांग की

कोटद्वार । नगर निगम की मेयर श्रीमती हेमलता नेगी ने प्रदेश सरकार पर जनता का शोषण करने के लिए जबरदस्ती जिला विकास प्राधिकरण को थोपे जाने का आरोप लगाते हुए जनहित में विकास प्राधिकरण को समाप्त करने की मांग की है, कहा कि कई बार पत्राचार करने तथा खुद भी मुलाकात करने के बाद अभी तक प्रदेश सरकार ने न तो विकास प्राधिकरण को समाप्त किया है, और न ही विकास प्राधिकरण के मानकों में शिथिलता बरती है, जिससे कोटद्वार भाबर की जनता को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, कहा कि यदि प्रदेश सरकार ने जनहित में जिला विकास प्राधिकरण को समाप्त नहीं किया तो कोटद्वार भाबर की जनता के सहयोग से विकास प्राधिकरण के विरोध में जनआंदोलन किया जायेगा। प्रेस को जारी विज्ञप्ति में नगर निगम की मेयर हेमलता नेगी ने एक बार फिर से प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, शहरी एवं आवास विकास मंत्री मदन कौशिक  तथा सचिव आवास विकास को पत्र प्रेषित कर जनहित में तत्काल जिला विकास प्राधिकरण को निरस्त करने की मांग की है। नगर निगम की मेयर श्रीमती हेमलता नेगी ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि उनके द्वारा विकास प्राधिकरण को समाप्त करने को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री, शहरी विकास मंत्री सहित सचिव आवास को कई बार पत्र भेज दिये है, प्रदेश सरकार से सिर्फ कार्यवाही करने का भरोसा दिया जाता है, लेकिन धरातल पर कोई कार्यवाही देखने को नहीं मिल रही है, जबकि जिला विकास प्राधिकरण लगातार भवन स्वामियों को परेशान किया जा रहा है, विकास प्राधिकरण से पूर्व अधूरे बने हुए भवन स्वामियों को नोटिस भेजकर अनावश्यक रूप से परेशान किया जा रहा है। कहा कि विकास प्राधिकरण के अस्तित्व में आने से पूर्व निर्माधीन भवनों के लिए स्पष्ट नीति बननी चाहिए, ताकि लोगों को परेशानी से बचाया जा सके। हेमलता नेगी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सत्ता में आते ही कोटद्वार भाबर की जनता की बगैर रायशुमारी किये ही जनता पर पहले तो नगर निगम थोप दिया है, और उसके बाद गरीब जनता से टैक्स वसूलने के लिए जबरदस्ती जिला विकास प्राधिकरण थोप दिया है, कहा कि कोटद्वार भाबर की जनता सरकार के द्वारा थोपे जा रहे कई प्रकार के टैक्सों को देने में पूरी तरह से असमर्थ है, जिससे प्रदेश सरकार को विकास प्राधिकरण को तत्काल समाप्त करना होगा, अन्यथा कोटद्वार भाबर के सहयोग से मजबूरन जनआंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा। उन्होंने क्षेत्रीय विधायक पर भी क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि क्षेत्रीय विधायक को भी जनता को राहत दिलाये जाने के लिए शासन स्तर पर पहल करनी चाहिए।

To Top