चालकों को सिखाया यातायात का पाठ

Publish 06-04-2019 13:01:59


चालकों को सिखाया यातायात का पाठ

कोटद्वार (गौरव गोदियाल) : पौडी जिले के कोटद्वार में शनिवार को आईडीटीआर (इंस्टीयूट आॅफ ड्राईविंग एंड ट्रैफिक रिचर्स) देहरादून के सौजन्य से हल्के और भारी वाहनों के चालको के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। प्रशिक्षण कार्यक्रम के पहले दिन सोमवार को लगभग 150 से अधिक वाहन चालकों को प्रशिक्षण दिया गया।
बद्रीनाथ मार्ग स्थित जीएमटी सभागार में आयोजित प्रशिक्षण प्रशिक्षक अशोक धीमान व हरीश कुमार ने वाहन चालको को यातायात नियमो और वाहन दुर्घटनाओं से बचने के उपाय बताए। प्रशिक्षण कार्यक्रम में वाहन चालको को ट्रैफिक लाइटों, सीट बेल्ट के फायदो के बारे में जानकारी दी गई।उन्होने विस्तृत पूर्वक समझाते हुए बताया कि "हर व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में कहीं भी आने जाने के लिए सड़क का प्रयोग करता है। हर रोज सड़क हादसों के भी बहुत से किस्से सुनने को मिलते हैं। ज्यादातर दुर्घटना लोगों की लापरवाही के कारण, जल्दी पहुचने के चक्कर में और नशा करके वाहन चलाने के चक्कर में होते हैं। हमारी थोड़ी सी गलती हमें हमारा और सामने वाले से उसका जीवन छीन सकती है। सरकार ने लोगों की सुरक्षा और सड़क दुर्घटना को कम करने के लिए यातायात के बहुत से नियम बनाए है और उन सबका पालन करना हमारा कर्तव्य है।
सड़क पर पड़ने वाले चौराहों पर अलग अलग रंग की बत्ती लगाई गई है। सबसे उपर लाल बत्ती है जिसका अर्थ है रूकना। पीली बत्ती का अर्थ होता है चलने के लिए तैयार होना और हरी बत्ती का अर्थ है चलना। साईकिल और पद यात्रियों के लिए अलग से रास्ता बनाया गया है। एक तरफा सड़को पर हमें चाहिए कि एक पंक्ति में चले क्योंकि अगर हम पंक्ति तोड़ेंगे तो आने जाने में दिक्कत होगी और ज्यादा देरी लगेगी। कभी भी दुसरे से आगे निकलने की होड़ नहीं रखनी चाहिए क्योंकि दुर्घटना से देरी भली है। यु टर्न लेते समय अपनै से पीछे वाले वाहन चालक को हाथ से ईशारा कर देना चाहिए।इस मौके पर सुरेन्द्र सिंह रावत,जीएमटी अध्यक्ष सन्दिप अग्रवाल, अनिल डोबरियाल , राकेश भट्ट,सन्दिप रावत,विनोद सिंह सहित सभी चालक मौजूद रहे ।

To Top