चालकों को सिखाया यातायात का पाठ

Publish 06-04-2019 13:01:59


चालकों को सिखाया यातायात का पाठ


अल्मोड़ा 21 सितम्बर, विकास खण्ड धौलादेवी के ग्राम पंचायत पाली के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौपकर धौलोदेवी विकास खण्ड में जलागम, स्वजल, दैवी आपदा मद के शौचालयों तथा 14 वें वित्त से कराये गये कार्यो  मे घोर अनियमिताऐं बरते जाने का आरोप लगाते हुए सभी कार्यो की जांच किये जाने की मांग की है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को सौपें ज्ञापन में अवगत कराया है कि इस संबंध में बीते 25 जून को तत्कालीन जिलाधिकारी को ज्ञापन सौपने के बाद उनके द्वारा 3 जुलाई को मुख्य विकास अधिकारी को जांच हेतु लिखा गया । जिसके बाद परियोजना निदेशक जिला ग्राम्य विकास अभिकरण अल्मोड़ा द्वारा जलागम, स्वजल व 14 वें वित्त के कार्यो की जांच हेतु 1 सितम्बर की तिथि निर्वारित की गयी लेकिन एक सितम्बर को कोई भी अधिकारी जांच हेतु नहीं पहुंचा ।
ग्रामीणों ने कहा कि 7 सितम्बर को खण्ड विकास अधिकारी धौलादेवी उप निदेशक ग्राम्या व स्वजल विभाग का एक-एक अधिकारी जांच हेतु आम। उन्होंने आरोप लगाया कि ये अधिकारी भी आधी-अधूरी जांच कर चलते बने और जांच में अनियमिताऐं पाये जाने के बाद उन्होंने 11 सितम्बर को पुनः जांच में आने को कहा लेकिन दिन भर इंतजार के बाद भी निर्धारित तिथि 11 सितम्बर को कोई भी अधिकारी जांच में नहीं पहुंचा जिससे क्षेत्रीय जनता में तीब्र आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि जब उनके द्वारा 14 वे वित्त, मनरेगा व राज्य वित्त के स्वीकृत कार्यो की सूची मांगी गयी तो उन्हें अधी-अधूरी सूची ही दी गयी। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को यह भी अवगत कराया कि शौचालयों के लिए दैवीय आपदा से जो बजट आया था उनमें से 15 लाभार्थियों को अभी तक शौचालयों का भुगतान नहीं किया गया उन्होंने जिलाधिकारी से स्वजल दैवीय आपदा, जलगम, 14 वें वित्त से कराये गये कार्यो की निष्पक्ष जांच कराये जाने की मांग करते हुए चेतावनी दी है कि यदि जांच कार्य शीघ्र नहीं किया गया तो ग्रामीण आन्दोललनात्मक कार्यवाही हेतु बाध्य होंगे। ज्ञापन सौपने वालों में पाली गुवादित्य के जगदीश चन्द्र पाण्डे, भैखदत्त पालीवाल, गोविन्द बल्लभ पाण्डे, हरीश राम, बची राम, नन्दन राम, हरीश पाण्डे, आदि शामिल थे ।

To Top