ब्रेकिंग न्यूज़ !
    *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

    विधि आयोग के पूर्व अध्यक्ष ने की पत्रकार वार्ता, ज्वलंत मुद्दो का न हुआ समाधान तो होगा जनआन्दोलन

    11-08-2019 20:00:25

    कोटद्वार (शैलेन्द्र)। कोटद्वार के दस ज्वलंत मुद्दों के तत्काल समाधान की मांग को लेकर केन्द्र व प्रदेश सरकार का ध्यान खींचतें हुए विधि आयोग के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता जगमोहन सिंह नेगी ने कहा कि जनहित में केन्द्र व प्रदेश सरकार इस पर त्वरित कार्रवाही करें। ऐसा न होने की स्थिति में वे वृहद जनआन्दोलन के लिए बाध्य होंगे। बद्रीनाथ मार्ग स्थित एक स्थानीय होटल में  पत्रकारों से वार्ता करते हुए पूर्व राज्य मंत्री कांग्रेस नेता जगमोहन सिंह नेगी ने कहा कि कंडी रोड़ जो कि गढ़वाल व कुमाऊ की जीवन रेखा है और राज्य बनने के 18 साल बाद भी यह मार्ग वन कानूनों की आड़ में उलझा हुआ है जबकि वर्ष 1980 में इस मार्ग पर यातायात सुचारू था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में लालढांग चिलरखाल मार्ग बनाने को स्वीकृति मिली थी तथा छः करोड़ से ज्यादा की राशि स्वीकृति हुई थी और इस मार्ग को एलिवेटेड़ रोड़ बनाना था लेकिन भाजपा सरकार ने इस मार्ग को अपने अनुसार बनाने की कोशिश की तथा अब यह मार्ग अधर में लटक गया है। उन्होने उच्च न्यायालय में ढंग से पैरवी करने के लिए ऐलिवेटेड रोड़ बनाने का सुझाव सरकारों को दिया है।


     कांग्रेस नेता जगमोहन सिंह नेगी ने कहा कि बफर जोन की चपेट में कोटद्वार को लाने से भारी नुकसान हो रहा है और बफर जोन का दायरा वन विभाग द्वारा कोटद्वार व लालढ़ाग रेंज तक बढाया गया है। कहा कि अब विभाग द्वारा कोटद्वार व दुगड्डा रेंज को भी इसमें शामिल करने की तैयारी है जिससे लोगों को भारी परेशानी होगी। उन्होने केन्द्र व प्रदेश सरकार से जनता के हक हकूकों के साथ 1980 से पूर्व की स्थिति बनाने की बात कही। वहीं उन्होने वन जन और पलायन पर बोलते हुए कहा कि जंगली जीव जन्तुओं से जहां काश्तकारेां को भारी नुकसान हो रहा है वहीं हर रोज जंगली जीवों के हमले से लोग परेशान है और जनपद के 517 गांव पलायन से वीरना हो चुके हैं। उन्होने केन्द्र सरकार से हिमालयी राज्यों के लिए प्रभावी नीति तैयार करने की बात कही।


    जगमोहन नेगी ने कण्वाश्रम के ऐतिहासिक महत्व को दृष्टिगत रखते हुए इसके विकास की बात करते हुए विश्व पटल पर स्थापित करने की मांग की। यही नहीं उन्होने कहा कि ट्रेंचिंग ग्राउण्ड कोटद्वार में हर रोज टनों के हिसाब से कूडा डम्प होता है तथा यहां सालिड वेस्ट मैनेजमेंट की सही व्यवस्था न होने से यहां की गंदगी व दुर्गध से लोगों का जीन मुहाल है। साथ ही उन्होने सीवर लाईन के पुर्नगठन की मांग की। व कहा कि सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत धन का आवंटन किया जाय। शहर के मोटरनगर में स्थित वर्ष 2012- 13 से निर्माणाधीन अन्तर्राष्ट्रीय बस अडडे का शीघ्र निर्माण करने की मांग की गयी है तथा कहा कि यह बस अड्डे मात्र गड्डा बनकर रह गया है। उन्होने लाट सूबेदार बलभद्र सिंह नेगी को भारत रत्न देने की भी मांग की तथा आपदा प्रबंधन का सही समाधान शहर में करने को कहा जिससे आपदा से होने वाली क्षति को कम किया जाय। वहीं उन्होने वर्षों पुरानी कोटद्वार जिले की मांग पर कहा गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा वर्ष 2011 में जिला निर्माण की घोषण किया था जिसको तत्काल जिला बनाया जाय। यही नहीं उन्होने जिला विकास प्राधिकरण को परेशान को सबब बताते हुए कहा कि जिला विकास प्राधिकारण से जनता को दोहरी मार पड़ रही है। उन्होने जिला विकास प्राधिकरण के नियमों को शिथिलता व जिला विकास प्राधिकरण को पूर्ण रूप से समाप्त करने की मांग की है। वहीं उन्होने कहा कि गत दिनों एक बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म व हत्या   क्षेत्र के लिए दुखदायी है। उन्होने उक्त मामले में न्यायालय में निशुल्क पैरवी करने की बात कही। पत्रकार वार्ता में रूपन नेगी, कांग्रेस महिला जिलाध्यक्ष रंजना रावत, महानगर कांग्रेस अध्यक्ष संजय मित्तल, सुनीता बिष्ट, भानू प्रकाश बलोधी, अजय पंत, सत्यपाल पटवाल, पूर्व राज्य मंत्री जसवीर राणा, परवेश रावत, गीता नेगी, गडू चौहान, राकेश शर्मा आदि थे।