जंगली जानवरों ने की ग्रामीणों की खड़ी फसल बर्वाद

Publish 02-05-2019 8:20:47


जंगली जानवरों ने की ग्रामीणों की खड़ी फसल बर्वाद

थराली (रमेश थपलियाल)। चमोली जिले में जहां इन दिनों औलावृष्टि से काश्तकारों की फसल बर्वाद हो रही है वहीं बची कूची कसर जंगली जानवर पूरा कर रहे है। चमोली जिले के थराली विकास खंड के कई गांवों में आजकल सूअरों व बंदरों  ने ग्रामीणों की खेतो में खड़ी गेहूं की फसल चैपट कर दी है। थराली और आसपास के गांवों के किसान सूअरों और बंदरों से परेशान है। किसान पूरे दिन-रात खेतो की चैकीदारी कर रहे है। नेलढालु के वन पंचायत के सरपंच महिपाल सिंह रावत ने बताया है कि जंगली सूअर खेतों में भारी नुकसान पहुंचा रहा है। खेतों में गेहूं की फसल तैयार है कटाई के लिए अभी कुछ ही वक्त है, जंगली सूअर ने आकर उसे बुरी तरह रोध दिया है।  थराली के पूर्व प्रमुख बख्तावर सिंह नेगी ने बताया कि सुअरों की समस्या उंचाई वाले क्षेत्रो  मे अधिक है। बोनोली के जयबीर सिंह रावत ने बताया कि बंदरो ने भी किसानों की खेती को छीन लिया है, सब्जियों की खेती बंदर नुकसान पहुंचा रहे है जिस कारण अधिकांश लोगों ने तो सब्जियां को बोना ही बंद कर दिया है। किसानों ने वन विभाग से इन जानवरों से निजात दिलाने की मांग की है। थराली स्थिति बदरीनाथ वन प्रभाग के रेंज अधिकारी गोपाल सिंह बिष्ट का कहना है कि यदि किसी छेत्र मे सुअरो का आतंक है तो सूचना वन विभाग को दे। सरकारी स्तर पर भी सुअरों  को मारने की अनुमति दी गई है।

To Top