उक्रांद ने केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री के बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

Publish 05-06-2019 19:23:57


उक्रांद ने केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री के बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

गोपेश्वर/चमोली (जगदीश पोखरियाल)। उत्तराखंड क्रांति दल चमोली ने बुधवार को चमोली जिला मुख्यालय गोपेश्वर में एक बैठक कर केन्द्र सरकार के मानव संसाधन मंत्री का कार्यभार लेते ही हिंदी भाषा की अनिवार्यता समाप्त करना दुर्भाग्यपूर्ण है। कहा कि इससे भाजपा असली चेहरा सामने आ गया है। इस निर्णय का उत्तराखंड क्रान्ति दल पुरजोर विरोध करता है
गोपेश्वर में आयोजित बैठक में दल के पूर्व मुख्य प्रवक्ता सतीश सेमवाल ने कही कहा कि जिन मुद्दो के लेकर भाजपा को बहुमत मिला उसे भाजपा ने ठंडे बस्ते में डाल दिया है। कहा कि हिन्दुत्व की बात करने वाले आज हिन्दी भाषा की अनिवार्यता को समाप्त करने की बात कर अपना असली चेहरा सामने ला रहे है।  बैठक में कहा गया कि उक्रांद ही राज्य मे भाजपा व कांग्रेस का विकल्प बनेगा। दल पूरे उत्तराखंड में सदस्यता अभियान चला रहा है और 24-25 जुलाई को दल का महाधिवेशन देहरादून में होगा। जिसमें सक्षम और प्रभावशाली व्यक्तित्व को दल की कमान सौंपी जायेगी। बैठक में चमेाली जिले के जंगलों में विभिन्न स्थानों में लगी आग के लिए वन विभाग को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। बैठक में दल के जिलाध्यक्ष अब्बल सिंह भंडारी, सत्य प्रसाद सती ने भी अपने विचार रखे।

To Top