शिक्षकों ने की मांगों के समाधान की मांग, अन्यथा होगा आंदोलन

Publish 10-06-2019 18:27:38


शिक्षकों ने की मांगों के समाधान की मांग, अन्यथा होगा आंदोलन

गोपेश्वर/चमोली (जगदीश पोखरियाल)। राजकीय जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ चमोली ने सोमवार को अपनी विभिन्न मांगों को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार को ज्ञापन भेजा है। जिसमें कहा गया है कि मांगों का निराकरण न होने पर शिक्षकों को आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा।
सीएम उत्तराखंड को भेजे गये ज्ञापन में मांग की गई है कि जब प्रदेश में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम लागू है तो शिक्षकों को भी केंद्रीय शिक्षकों की भांति सभी भत्ते व सुविधाऐं दी जाए, स्थानांतरण प्रक्रिया में रिक्त पद के सापेक्ष की स्थानांतरण किये जांए, स्थानांतरण में जो शिक्षक दुर्गम में रहना चाहता है उसे अनिवार्य स्थानांतरण प्रक्रिया में छूट दी जाए, समग्र शिक्षा व सर्व शिक्षा में कार्यरत शिक्षकों का वेतन प्रतिमाह दिया जाए सहित अन्य मागों का समाधान किया जाए अन्यथा शिक्षकों को आंदोलन के लिए विवश होना पडे़गा। कहा है कि यदि मां पूरी नहीं होती है तो 18 जून को ब्लाॅक व जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जाएगा साथ ही 25 जून से परेड ग्रांउड देहरादून में धरना शुरू किया जाएगा। ज्ञापन देने वालों में अध्यक्ष भुवन चंद्र डिमरी, बैशाख सिंह रावत, मदन लाल कपरवाल, दिनेश चंद्र खाली, उमेश चंद्र थपलियाल आदि मौजूद थे।

To Top