शराब की दुकानों में धड़ल्ले से ओवर रेटिंग, पैसा खर्च करने के बाद भी ग्राहकों को पिलाई जा रही घटिया शराब

Publish 11-07-2019 20:03:15


शराब की दुकानों में धड़ल्ले से ओवर रेटिंग, पैसा खर्च करने के बाद भी ग्राहकों को पिलाई जा रही घटिया शराब

थराली (रमेश थपलियाल):  चमोली जिले के थराली स्थित अंग्रेजी शराब की दुकान में धड़ल्ले से ओवर रेटिंग बदस्तूर अभी भी जारी है। ओवर रेटिंग के साथ ही घटिया ब्रांड की शराब की पिलाई जा रही है। जिससे उपभोक्ताओं में भारी रोष व्याप्त है।
बता दें की अप्रैल माह में ई टेंडरिंग प्रक्रिया से उत्तराखंड  में आबकारी विभाग ने अंग्रेजी शराब की दुकानों का आवंटन किया था, लेकिन ऊंचे अधिभार की वजह से शराब व्यावसायियों ने थराली की शराब की दुकान में कोई रुचि नहीं दिखाई। इसी तरह पूरे प्रदेश भर में कई दुकानें ऊंचे अधिभार के चलते नहीं उठ पाई लिहाजा कैबिनेट ने राजस्व नुकसान को देखते हुए कुल वार्षिक अधिभार पर 35 प्रतिशत कटौती करते हुए नौ माह के लिए शेष दुकानों का आवंटन लॉटरी प्रक्रिया से किया थराली स्थित अंग्रेजी शराब की दुकान एक जुलाई से शुरू तो हो गई लेकिन शराब व्यवसायियों ने दुकान खोलते ही ग्राहकों की जेब पर ओवरेटिंग के जरिए डाका डालना भी शुरू कर दिया साथ ही ओवरेटिंग के बावजूद भी थराली की अंग्रेजी शराब की दुकान में रेगुलर ब्रांड ग्राहकों के लिए अभी भी अनुज्ञापि उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं। ओवररेटिंग की बात करें तो शराब के शौकीन बताते हैं कि सेल्समैन प्रति बोतल 70 से 80 रुपये अधिक वसूले जाते हैं, विरोध करने पर सेल्समैन शराब देने से मना कर दिया जाता

क्या कहना है स्थानीय जनप्रतिनिधियों
वही ओवररेटिंग और घटिया शराब के बारे में बोलते हुए संदीप रावत, मनोज रावत, सोनू केशर सिंह, आकाश  ने कहा कि एक और सरकार राजस्व के बहाने शराब परोसने में लगी है वहीं दूसरी और शराब की दुकानों में ओवररेटिंग से ग्राहकों की जेब पर डाका डाला जा रहा है साथ ही इतनी ज्यादा ओवररेटिंग के बावजूद भी घटिया किस्म की शराब थराली की अंग्रेजी शराब की दुकान में ग्राहकों को बेची जा रही है।

क्या कहते हैं अधिकारी
अंग्रेजी शराब की दुकान में ओवररेटिंग पर जिला आबकारी अधिकारी दीपाली शाह ने बताया कि इस तरह की शिकायतें मिलने पर उनके द्वारा आबकारी टीम संबंधित दुकानों में छापेमारी के लिए भेजी जाती हैं और छापेमारी के दौरान यदि ओवरेटिंग का कोई मामला सामने आता है तो दुकान का चालान भी किया जाता है, साथ ही उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि शराब की दुकानों से ओवररेटिंग के किसी भी तरह के जारी वीडियो के आधार पर हम दुकान का चालान नहीं कर सकते हैं, थराली की अंग्रेजी शराब की दुकान पर रेगुलर ब्रांड ग्राहकों को नहीं मिल पाने पर कहा कि थराली स्थित दुकान अभी हाल ही में खुली है जिस वजह से अभी रेगुलर ब्रांड ग्राहकों के लिए उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं, घटिया और मिलावटी शराब की बिक्री शराब की दुकानों से किये जाने के सवाल पर कहा कि सभी ब्रांड आबकारी विभाग की देखरेख में ही शराब की दुकान तक पहुंचते हैं, फिर भी अगर दुकान से सेल्समैन किसी तरह की मिलावट करते हैं और ऐसी शिकायत मिलने पर सैम्पल टेस्ट भी किया जाएगा। कहा कि थराली क्षेत्र से शराब को लेकर मिल रही लगातार शिकायतों का वे खुद संज्ञान ले रही हैं और जल्द ही वे खुद इन दुकानों का निरीक्षण करेंगी।

To Top