ब्रेकिंग न्यूज़ !
    *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

    सड़क बंद होने की दशा में रैन बसेरों में रहेंगे यात्री, एसडीएम अधिकारियों बैठक

    26-04-2019 19:09:31

    गोपेश्वर(जगदीश पोखरियाल)।  चमोली जिले के कर्णप्रयाग के उपजिलाधिकरी देवानंद ने शुक्रवार को तहसील स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए चार धाम यात्रा की व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। एसडीएम ने नगर में बिजली, पानी, पथ प्रकाश सहित हाईवे को सुचारू रखने के निर्देश दिए। यही नहीं विषम परिस्थितियों में यात्रा मार्ग बंद होने पर नगर में सभी रैन बसेरों को दुरूस्त रखने के निर्देश दिए। तहसील सभागार में आयोजित बैठक में एसडीएम देवानंद ने अधिकारियों को कमेड़ा से लेकर नंदप्रयाग तक हाईवे को यात्राकाल में दुरूस्त रखने के लिए कहा। एसडीएम ने कहा कि सड़क पर आए मलबे को हटाने के साथ ही गड्ढ़ों को भरने और धूल उड़ने पर पानी के छिड़काव करने के लिए कहा। एसडीएम ने पालिका द्वारा लचर सफाई व्यवस्था को सुधारने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने के निर्देश दिए। जबकि जलसंस्थान को पेयजल, पालिका को पथ प्रकाश और ऊर्जा निगम को बिजली व्यवस्था सुचारू करने की बात कही। यही नहीं यात्रा मार्ग पर बिकने वाली खाद्य सामग्री तय दामों पर यात्रियों को उपलब्ध करने के अधिकारियों को निर्देश दिए। बैठक के बाद एसडीएम देवानंद ने संबधित अधिकारियों के साथ बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग का निरीक्षण भी किया। इस दौरान गौचर से कर्णप्रयाग तक खस्ताहाल हो चुके मार्ग का दुरूस्त करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। बैठक में जलसंस्थान, ऊर्जा निगम, एनएचआईडीसीएल, राष्ट्रीय राजमार्ग, नगर पालिका सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।