*** सभी ग्रामवासियों को गाँधी जयंती और विजय दशमी दशहरा की हार्दिक शुभकामनायें - शेर अली , प्रधान प्रत्याशी पति ग्राम पंचायत रायापुर *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

चमोली जिले की दत्तात्रेय मां सती अनसूया 45 वर्ष बाद निकली देवरा यात्रा पर

09-10-2019 22:50:21

गोपेश्वर। चमोली जिले की दत्तात्रेय मां सती अनुसूया 45 वर्ष बाद इस वर्ष देवरा यात्रा पर निकली है। माता सती अनुसूया की उत्सव डोली बुधवार को भगवान त्रिजुगीनारायण से भेंट कर गौरीकुंड पहुंच गई है। जहां रात्रि विश्राम के बाद देवी की उत्सव डोली गुरूवार को केदारनाथ धाम के लिये रवाना होगी।

मंगलवार को घाटी के सिरोली गांव में रात्रि प्रवास के बाद बुधवार की प्रातः कालीन पूजा अर्चना के पश्चात मां सती अनुसूया ने गांव का भ्रमण कर भक्तों की कुशल क्षेम पूछी। इस दौरान यहां गाँव  के देवी भक्तो और ध्यांणियों (विवाहित बेटियां) ने मां की पूजा अर्चना कर परिवार और क्षेत्र की कुशलता की मनौतियां मांगी। जिसके बाद सिरोली गांव से प्रस्थान कर माता अनुसूया ने बंणद्वारा गांव पहुंचकर अपनी बहन ज्वाला से भेंट की। जहां पूजा और मध्याहान भोग के बाद देवी की उत्सव डोली भगवान त्रिजुगीनारायण से भेंट  कर रात्रि प्रवास के लिये गौरीकुंड पहुंच गई है। अनसूया ट्रस्ट के अध्यक्ष भजन सिंह झिक्वांण ने बताया कि माता अनुसूया देवी की देवारा यात्रा आगामी छह माह तक आयोजित की जाएगी। इस दौरान देव डोली केदारनाथ के बाद बदरीनाथ धाम का भ्रमण करेगी। इसके साथ ही छह माह तक देवी की देवारा यात्रा विभिन्न गांवों और तीर्थस्थलों का भी भ्रमण करेगी। उन्होंने बताया कि गुरूवार को देव डोली भगवान शिव के दर्शनों को केदानाथ धाम पहुंचेगी।