ब्रेकिंग न्यूज़ !
    *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

    विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी के निरीक्षक को दल रवाना

    05-05-2019 21:55:36

    गोपेश्वर (जगदीश पोखरियाल)। रविवार को नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क की चार सदस्यीय टीम फूलों की घाटी के निरीक्षण के लिये रवाना हो गई है। टीम घाटी में बर्फवारी से हुए नुकसान, पैदल रास्तों की क्षति और यात्री सुविधाओं का जायजा लेगी। दल की रिपोर्ट के बाद घाटी में सुविधाएं जुटाने का कार्य शुरु किया जाएगा।
    बता दें कि विश्व धरोहर फूलों की घाटी एक जून से पर्यटको के लिए खोल दी जायेगी। जिसको लेकर पार्क प्रशासन ने तैयारियों में जुट गया है। अप्रैल माह में भी घाटी का निरीक्षण करने को एक दल गया था लेकिन अत्याधिक ग्लेशियर जमे होने के कारण घाटी में हुए नुकसान की पूरी जानकारी नहीं मिल सकी थी। जिसके बाद अब पार्क प्रशासन ने एक बाद फिर रविवार को गोविंदघाट से वन दरोगा दिनेश लाल के नेतृत्व में मोहन लाल, वन आरक्षी गुलाब सिह व पुष्कर सिंह घाटी के निरीक्षण को रवाना किया हैं। यह भी बता दे कि चमोली जिले में स्थित फूलों की घाटी को दीदार को प्रतिवर्ष सैकडों पर्यटक और वनस्पति विज्ञानी घाटी में पहुंचते हैं। जिसके लिये नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क के संरक्षित क्षेत्र में घाटी के होने से घाटी के रख-रखाव का जिम्मा भी पार्क प्रशासन का है।
    क्या कहते है अधिकारी
    फूलों की घाटी में इस वर्ष शीतकाल में हुई भारी बर्फवारी के चलते अभी भी पांच फीट से अधिक बर्फ जमी हुई है। जिससे बामण धौडा, द्वावारी पुल सहित अन्य चार स्थानों पर ग्लेशियर अटके हुए हैं। निरीक्षण दल के लौटने के तत्काल बाद घाटी में पैदल मार्ग का सुधारीकरण कार्य शुरु करवाया जाएगा।
    मोहन भारती, वन क्षेत्राधिकारी, नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क।