*** सभी ग्रामवासियों को गाँधी जयंती और विजय दशमी दशहरा की हार्दिक शुभकामनायें - शेर अली , प्रधान प्रत्याशी पति ग्राम पंचायत रायापुर *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

डीएम चमोली स्वाति भदौरिया ने बच्चों के साथ बैठ कर लिया मिड डे मील का स्वाद

09-10-2019 22:45:00

चमोली । जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया ने बुधवार को चमोली जिले के घिंघराण स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय एवं मॉडल आंगनबाडी केंद्र देवर खडोरा का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने आंगनबाडी केन्द्र में बच्चों की दी जा रही पूर्वशाला शिक्षा एवं अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए बच्चों के साथ जमीन में बैठकर मिड डे मील में बना खाना भी खाया। खाने में तेज मिर्च के कारण दाल तिखी होने पर डीएम ने भोजन माता को भोजन में मिर्च कम करने के निर्देश दिए।

प्राथमिक विद्यालय और मॉडल आंगनबाडी केन्द्र देवर खडोरा के बच्चे हर रोज की तहर मिड डे मील में बना खाना खा रहे थे, लेकिन बुधवार का दिन उनके लिए कुछ खास रहा। जब चमोली की जिलाधिकारी ने भी जमीन में विछाई दरी में बैठकर बच्चों के साथ मिड डे मील में बना खाना खाया। दरअसल डीएम बच्चों को खिलाए जा रहे मिड डे मील की गुणवत्ता को परखना चाह रहे थे। इस दौरान उन्होंने भोजन माता को बच्चों के भोजन में मिर्च कम रखने, सुरक्षित और पौष्टिक भोजन देने की बात कही।

जिलाधिकारी ने मॉडल आंगनबाडी केंद्र देवर खडोरा में बच्चों को दी जारी शिक्षा एवं अन्य व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया। उन्होंने बच्चों से विभिन्न रंगों, आकृतियों के बारे में पूछते हुए बच्चों को दी जा रही शिक्षा की गुणवत्ता की परख की। इस दौरान बच्चों ने कविताएं भी सुनाई। जिलाधिकारी ने आंगनबाडी कार्यकत्री को कागज की विभिन्न आकृतियां तथा खेलों के माध्यम से बच्चों को व्यावहारिक शिक्षा देने को कहा। कहा कि हिन्दी के अलावा अंग्रेजी में भी बच्चों को उनके आसपास की वस्तुओं की जानकारियां दी जाए। उन्होंने आंगनबाडी को और बढिया बनाने के लिए कार्यकत्री को अपने सुझाव भी देने को कहा। प्राथमिक विद्यालय देवर खडोरा के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने स्कूल में वाटर फिल्टर तथा फर्स पर टायल्स लगाने के लिए बीईओ को आंगणन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी की पहल पर बचपन प्रोजेक्ट के तहत जनपद में संचालित आंगनबाडी केंद्रों में सभी सुविधाएं मुहैया कर मॉडल के रूप में तैयार किया जा रहा है। नौनिहालों के सर्वागीण विकास के लिए अभी तक 90 आंगनबाडी केन्द्रों में मॉडल बनाया जा चुका है। इन आंगनबाडी केन्द्रों में ऑडियो किट, लर्निंग मटीरियल, पंचतत्र व महान व्यक्तियों की कहानियां, प्रोजेक्टर, लैपटॉप, हाईजिन किट, फस्टएड किट, फिसल पट्टी, दर्री, टेवल, चीयर, गुढढा-गुढढी बोर्ड, वाटर फिल्टर, गैस कनेक्शन, खेलकूद तथा लम्बाई और वजन मापने के लिए आवश्यक सामग्री देकर मॉडल के रूप में तैयार किया जा चुका है। मॉडल आंगनबाडी केन्त्रंद्रों को सुन्दर व आकर्षक बनाने के लिए संदेशपरक वॉल पेंन्टिग भी कराई गई हैं। इस अवसर पर खण्ड शिक्षा अधिकारी दर्शन लाल टम्टा, डीपीओ संदीप कुमार, आंगनबाडी सुपरवाइजर राधिका लोहिनी, सहायिका यशोदा देवी, आंगबाडी कार्यकत्री सत्येश्वरी देवी आदि मौजूद थे।