तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को राज्य में आने का आह्वान कर व्यवस्था करना भूली सरकार

Publish 09-06-2019 20:11:50


तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को राज्य में आने का आह्वान कर व्यवस्था करना भूली सरकार

चारधाम यात्रा में हो रही अव्यवस्थाओं को लेकर बोले पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष डा. मैखुरी
गोपेश्वर/चमोली (जगदीश पोखरियाल)।
राज्य में चारधाम की यात्रा चरम पर है, लेकिन चारधाम यात्रा मार्गों पर शासन और प्रशासन की ओर से की गई व्यवस्थाएं पटरी से उतर गई हैं। जिससे राज्य के पर्यटन और तीर्थाटन की छवि प्रभावित हो रहे है। यह बात कर्णप्रयाग के पूर्व विधायक और विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ. अनुसूया प्रसाद मैखुरी ने रविवार एक बयान जारी करते  हुए कही। कहा कि यात्रियों और पर्यटकों का उत्तराखंड आने का आहवान कर सरकार उचित व्यवस्थाएं करना भूल गई। परिणाम चारधाम यात्रा के पीक पर पहुंचते ही अव्यवस्थाएं हावी हो गई। सड़क से लेकर यात्रियों के ठहरने, खाने-पीने और दर्शन तक को लेकर बाहरी राज्यों से आ रहे तीर्थयात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। कहा कि यात्रा मार्गों पर जाम से यात्रियो का शिडयूल बिगड़ रहा है। जिससे उन्हें अतिरिक्त आर्थिक नुकसान उठाना पड रहा है। वहीं सडकों पर लग रहे जाम से तीर्थयात्रियों के साथ ही स्थानीय लोगों का आवाजाही करने में भी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। चारधाम यात्रा मार्ग पर पुलिस प्रशासन भी व्यवस्था बनाने में लाचार दिखाई दे रही है। कहा सरकार से समय रहते हुए व्यवस्था को दुररुस्त करने की मांग की। कहा कि यदि शीघ्र व्यवस्थाएं सामान्य नहीं होती तो राज्य के तीर्थाटन और पर्यटन की छवि पर इसका खासा दुष्प्रभाव पड़ेगा।

To Top