ब्रेकिंग न्यूज़ !
    *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

    भारत-नेपाल के बीच संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास - सूर्य किरण-14 का सत्यापन अभ्यास शुरू

    14-12-2019 19:27:58 By: एडमिन

    नेपाल / लखनऊ / नई दिल्ली : भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास- सूर्य किरण के 14 वें संस्करण का 48 घंटे का सत्यापन अभ्यास आज शनिवार से नेपाल के रूपन्देही जिले के सलझण्डी स्थित नेपाल आर्मी बैटल स्कूल एनएबीएस में शुरू हो गया।

     

     

    भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास- सूर्य किरण के 14 वें संस्करण के इस सत्यापन अभ्यास के दौरान दोनों देशो की सेनाओं द्वारा जवाबी कार्रवाई एवं आतंकवाद विरोधी सैन्य ऑपरेशनों को हेलिकॉप्टर का उपयोग करते हुए अंजाम दिया जायेगा। अभ्यास के दौरान दोनों देशो की सैन्य टुकड़ियाँ विविध ड्रिल, प्रक्रियाओं एवं अन्य बारीकियों को समझेगें। दोनों देशो की स्पेशल सैन्य टुकड़ी द्वारा प्रशिक्षण के तहत घरों की क्लीयरिंग, रूम इंटरवेंशन एवं बंधकों को मुक्त करने के लिए बचाव ड्रिल तथा ऑपरेशन चलाया जायेगा।

     

     

    इस अवसर पर मौजूद दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्यधिकारियों एवं गणमान्य अतिथियों ने सत्यापन अभ्यास में शामिल सैन्य टुकड़ियों के प्रदर्शन की प्रशंसा की। इस संयुक्त युद्धाभ्यास का उद्देश्य भारतीय सेना और नेपाली सेना के बीच एक दूसरे के हथियारों को समझना एवं पर्वतीय तथा जंगली क्षेत्रों में जवाबी कार्रवाई और आतंकवाद विरोधी सैन्य ऑपरेशनों को संयुक्त रूप से अंजाम देना है।  यह संयुक्त युद्धाभ्यास भारत और नेपाल के बीच लंबे समय तक रणनीतिक संबंधों को प्रगाढ़ बनाने में सहायक सिद्ध होगा।