10 मई को ब्रह्म मुहुर्त में खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट

Publish 10-02-2019 14:13:07


10 मई को ब्रह्म मुहुर्त में खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट


थैलीसैण/पौड़ी | बारिश के नहीं होने से लोगों को करना पड़ रहा काफी इंतजार। थलीसैंण  क्षेत्र में कई दिनों से बारिश नहीं होने से भारी उमस भरी गर्मी से जनजीवन हौ रहा आहत। काश्तकारों द्वारा रोपित धान की फसल सूखने के कगार। पानी की कमी के चलते कई गांवों में नहीं हो पा रही धान की रोपाई।   दरअसल पहाड़ी क्षेत्रों में काश्तकार बारिश के भरोसे ही रहता है। खेतों में बुवाई का कार्य तो कर दिया वह भी आसमान के भरोसे पर सही समय पर बारिश हो जाती है तो फसल की पैदावार अच्छी हो जाएगी । बारिश नहीं हुई तो फसल सूख जातीहै । यही हाल आजकल इस क्षेत्र का है क ई दिनों से बारिश के नहीं होने से क्षेत्र में काफी उमस भरी गर्मी हो रही है। जिससे आम जनजीवन काफी आहत हो रहा है। वहीं इस गर्मी से लोग बीमार भी काफी  हों रहें हैं। जिससे स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है। वहीं बारिश के नहीं होने से कई गांवों के लोगों ने कभी तक धान रोपाई भी नहीं किया है। ग्रामीणों का कहना है कि हम लोग आसमान पर निर्भर है । लेकिन बारिश के नहीं होने से धान रोपाई भी नहीं हो पा रही है। बारिश का इंतजार कर रहे हैं। जैसे ही बारिश हो जाती है तो तुरंत रोपाई शुरू कर दी जाएगी। काश्तकारों को बारिश ने काफी इंतजार करा है। जून माह के अंत से शुरू कर जुलाई दुसरे सप्ताह तक रोपाई काम पूरा हो जाता था। लेकिन इस बार काफी इंतजार करना पड रहा है।

To Top