*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

शनी साढ़ेसाती विशेष : शनि की साढ़ेसाती से बचने के लिए प्रयोग करें पनबिछुआ की जड़

10-08-2019 21:49:45 By: एडमिन

लखनऊ /उत्तर प्रदेश (रघुनाथ प्रसाद शास्त्री): एक धार्मिक कार्यक्रम में ज्योतिष के जानकार रघुनाथ प्रसाद शास्त्री ने शनि के संदर्भ में बताया शनि से ज्यादातर लोग भयभीत रहते हैं परेशान रहते हैं शनि की ढैया और शनि की साढ़ेसाती से लोगों में हमेशा या भ्रम रहता है शनि केवल नुकसान करता है फायदा कभी नहीं इस संदर्भ में श्री शास्त्री ने बताया जिन  व्यक्तियों पर शनि की ढैया य साढ़ेसाती चल रही हो उस समय परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं उस समय व्यक्तियों को काले कपड़े पहनने चाहिए, काले जूते पहनने चाहिए, काला गमछा डालना चाहिए ,शनि का प्रभाव प्रभावित नहीं करेगा बल्कि शनि का प्रभाव जिनपर होगा उस समय ऐसा करेंगे तो नुकसान के बजाय फायदे मिलेंगे और यदि सर में सरसों का तेल लगाएंगे तो और भी फायदा मिल सकता है इसके अलावा यदि आपको ज्यादा दिक्कत महसूस हो रही है तो पनबिछुआ पेड़ की (कौआ)जड़ को अपने दाहिने हाथ में काले कपड़े में शनिवार को बांधे इसका लाभ मिलेगा इसकी विधि यह है शुक्रवार  शाम को उस पेड़ को निमंत्रित करें और शनिवार सुबह सूर्योदय से पहले उस पेड़ को एक हाथ से उखाड़ कर लें आये और उस जड़ को पहले शुद्ध जल से धोएं उसके बाद  भैंस के दूध से धुले बाद गंगाजल से धोकर लोबान से धूपा कर बांध लें जब तक साढ़ेसाती  या शनि की ढैया चले तब तक उसे बना रहने दे ऐसा करने पर शनि का प्रभाव व्यक्ति को दिक्कत नहीं देगा उस समय में अधिक लाभ होगा।