राशिफल व पञ्चांग 31 दिसम्बर 2018

Publish 30-12-2018 20:24:59


राशिफल व पञ्चांग 31 दिसम्बर 2018

ललितपुर,यू.पी.(प्रमोद सक्सेना)| पुलिस लाइन ललितपुर के सभागार में दिनांक 02.02.18 को हुये अनूप सहाय ठेकेदार के अंधे हत्या कांड जो पुलिस के लिए चुनोती बना हुआ था जिसके खुलासे के लिए आये दिन आवाज उठाई जाती थी का पुलिस अधीक्षक डॉ ओ पी सिंह ने पर्दाफाश किया  तथा मुल्जिमानों को मीडिया के सामने पेश कर पूरे घटना क्रम की जानकारी प्रदान की । पुलिस अधीक्षक ने जानकारी दी कि इस हत्याकांड में मुख्य भूमिका अनूप सहाय ठेकेदार के  जीजा अरविंद रजक की रही, जो जिला जजी झांसी में लिपिक पद पर कार्यरत है,अनूप के जीजा की अपनी पत्नी से बनती नही थी तथा अनूप भी अपनी बहन का पक्ष लेकर अक्सर अपने जीजा से झगड़ता रहता था तथा जान से मारने की भी धमकी देता था। इसी बात से नाराज अरविंद रजक ने अपने साले अनूप सहाय को रास्ते से हटाने के लिए भाड़े के लोगों से सौदा कर अनूप की हत्या करा दी ।
मिली जानकारी के अनुसार अरविंद रजक जो जिला जजी झांसी में बाबू है के सम्बंध शातिर अपराधी मेघराज से थे जो बकालत का भी कार्य करता था । मेघराज पर अनेको मुकद्दमे दर्ज है ।मेघराज ने ही 2 लाख रुपये में हत्या करने का ठेका लिया तथा सहयोग के लिए अपने दो साथी तैयार किये तथा 10 हजार रुपया बतौर एडवांस अरविंद रजक से लिये ।
 

दो फरवरी18 की काली रात
02 फरवरी 18 की वह काली रात अनूप सहाय रात में घूमकर घर लौटा थोड़ी ही देर में झांसी से आये भाड़े के दो हत्यारे मेघराज और पीयूष ने अनूप सहाय को आवाज देकर घर से बाहर बुलाया नाम पूछकर तसल्ली की और मार दी पांच गोलिया । गली के बाहर मोटरसाइकिल लिए खड़े तीसरा साथी दिलीप कुशवाहा के साथ मोटरसाइकिल पर बैठकर आसानी से भाग गये । यह सब वाक्या सी सी कैमरे में भी कैद हो गया ।तब से पुलिस लगातार इस हत्याकांड के सुलझाने में लगी रही तभी जनपद में आये नये पुलिस अधीक्षक ने इस चुनोती पूर्ण अंधे हत्याकांड की बागडोर सम्हाली उनका साथ दिया अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश विजेता,सीओ सिटी हिमांशु गौरव के नैतृप्त में शहर कोतवाल अवधेश चौहान,एस एस आई राजा बाबू, सन्त राम सिंह,अजमेर सिंह भदौरिया, क्राइम ब्रांच के श्याम सुंदर सिंह,अजमत उल्लाह,रविन्द्र कटियार, सुनील कुमार ने रात दिन महनत कर सहयोग किया । पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा, कारतूस,मोटरसाइकिल, तथा मोबाइल बरामद किये ।पुलिस विभाग द्वारा खुलासा करने वाली टीम को 50 हजार रुपया तथा प्रशस्ति पत्र देने की भी घोषणा की गई ।

To Top