राशिफल व पञ्चांग 22 फरवरी 2019

Publish 21-02-2019 18:53:27


राशिफल व पञ्चांग 22 फरवरी 2019

 

फतेहपुर चौरासी उन्नाव (रघुनाथ)| आज आषाढ़ी पूर्णिमा के अवसर पर गृहणियों ने मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना कर अपने परिवार की रक्षा की कामना की है। और घर में दरवाजों पर आषाढी बनाकर उसकी पूजा की है। मान्यता है। कि आषाढ़ी पूर्णिमा के दो दिन पहले यानी हरिशयनी एकादशी तिथि को हिंदू देवी देवता एक माह के लिए अवकास ले लेते हैं। श्रावणमास भर देवी देवताओं की पूजा ना होकर केवल शिवजी की अकेले ही पूजा होती है । जो रविवार से शिवलिंग पर बेलपत्र, फूल, नैवेद्य ,धतूर पुष्प, चढ़ाकर  एक माह तक पूजा करेगें
इस वर्ष विशेष संयोग बना हुआ है। जो आज से पिछले 104 साल पहले बना था आषाढ़ी पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण दोनों एक समय में और दिन शनिवार होने की वजह से इसका महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है। इसके अलावा एक और भी खास बात है की 27 जुलाई और 28 जुलाई के मध्य में चंद्र ग्रहण पड़ रहा है इसका प्रभाव देश के राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ताओं पर काफी भारी पड़ेगा और धार्मिक कार्य करने वाले व्यक्तियों पर भी इसका बुरा असर पड़ेगा इस ग्रहण का लाभ केवल अत्याचार और दुष्प्रचार करने वाले व्यक्तियों के लिए खासतौर से फायदेमंद होगा

To Top