राशिफल व पञ्चाङ्ग 21 नवम्बर 2018

Publish 20-11-2018 19:20:51


राशिफल व पञ्चाङ्ग 21 नवम्बर  2018

ब्यूरो/उन्नाव। सिकन्दरपुर कर्ण ब्लाक के रौतापुर गांव स्थित मां भुईयादेवी मंदिर में आयोजित धनुषभंग कार्यक्रम का भाजपा नेता अरूण कुमार दीक्षित ने दीपप्रज्जलित कर शुभारम्भ किया। धनुषभंग में परशुराम व लक्ष्मण सवांद सुनने के लिये दर्शक भोर तक डटे रहें। धनुषभंग के आयोजको ने देर रात पहुचे बांगरमऊ विघायक पंकज गुप्ता का जोरदार स्वागत किया। भाजपा नेता अरूण कुमार दीक्षित ने कहा कि हमे राम के आदर्शो पर चलना चाहिए। जिस क्षेत्र में भगवान राम का गुणगान किया जाता है। उस क्षेत्र में अमन चैन कायम रहता है। जनकपुरी दुल्हन की तरह सजी हुई थी। सीता स्वयंबर का आयोजन चल रहा था राजा जनक का दरबार लगा हुआ था। जिसमें राजाओं का आना शुरू था। इसी बीच विश्वामित्र अपने साथ राम, लक्ष्मण को लेकर पहुचे तो उन्हे आशन दिया गया। धनुष तोडने को लेकर राजा जोर अजमाईश करते रहे मगर धनुष को तोडना तो दूर उसको हिला तक नही पाये। इसके बाद रावण, बाणासुर के बीच धनुष तोडने को लेकर विवाद हो गया। जिससे काफी देत तक आपस में संवाद होता रहा। जनक ने देखा कोई भी राजा धनुष नही तोड़ पाया तो सीता विवाह न होने को लेकर विलाप करने लगे। इसी बीच गुरू की आज्ञा पाकर भगवान राम धनुष तोडने के लिये चल पडे। भगवान राम ने धनुष उठा कर दो भागो में विभाजित कर दिया। धनुष टूटने की आवाज जंगलो में गुंज गयी तो तपश्या कर रहे मार्हिष परशुराम की तपस्या टूट गयी। तो परशुराम जानकीपुरी आ धमके और धनुष तोडने वाले को खोजने वाले लगे। इसी बीच लक्ष्मण जी सामने आ गये तो दोनो के बीच विवाद होने लगा। जो भोर पहर तक चलता रहा। कार्यक्रम का आयोजन मानसिंह यादव ने किया। इस मौके पर मण्डल अध्यक्ष भाजपा अजय बाजपेयी, मुकुट द्विवेदी, शिवम तिवारी, पवन त्रिवेदी, शैलेश कुमार, ईलु विमल आदि लोग मौजूद रहें।

To Top