*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

राशिफल व पञ्चांग 16 जनवरी 2019

15-01-2019 18:25:41

 

अल्मोड़ा  |  बंधुवा मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी अग्निवेश ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का नागपुर मुख्यालय जाना सही था। लेकिन, देश में सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने वाले संगठन आरएसएस का उनके द्वारा विरोध किया जाना चाहिए था। साथ ही मोदी सरकार के काम काज पर आरएसएस के बढ़ते दखलअंदाजी को देश में सहिष्णुता एवं सांप्रदायिकता के लिए घातक बताया। कहा कि आरएसएस ने देश में घृणा फैलाकर हिन्दू समाज का ध्रुवीकरण करने का काम किया है। कहा कि भाजपा ने पिछले चार सालों में देश में धार्मिक उन्माद, धार्मिक कठरपंथियता एवं हिन्दू सांप्रदायिकता का जहर घोला गया है।
        यहॉ उत्तराखण्ड भ्रमण पर आए बंधुवा मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी अग्निवेश ने पत्रकार वार्ता कर सत्तासीन रहीं कांग्रेस एवं भाजपा सरकारों पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि दोनों दलों की रणनीति एक जैसी है। इसका जीता जागता उदाहरण नागपुर में पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के संबोधन से साफ नजर आता है। उन्होंने कहा कि देश आज बेराजगारी, नक्सलवाद एवं आंतकवाद से घिरा हुआ है। और सरकार इन समस्याओं से पार पाने के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने मोदी सरकार के चार सालों को विफल बताते हुए खिंचाई की। उन्होंने कहा कि सत्तासीन होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों, बेरोजगारों, महिलाओं कर्मचारियों एवं मजदूरों से जुमलेबाजी कर गुमराह करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी, नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राईक, कश्मीर मुद्दा एवं राम मंदिर के नाम पर जनता को सरकार ने केवल भ्रमित किया है। उन्होंने कहा कि सरकार वर्तमान में आठ राज्यों में जो नक्सलवाद से ग्रसित है। उसके स्थाई समाधान के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने कहा कि आज देश में प्रगतिशील सांप्रदायिक चेहरे कतई भी बर्दाश्त नहीं किए जाएंगें। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने प्रत्येक राज्य के मुख्या के तौर पर संघ प्रचारकों को सत्ता सौंप देश में सांप्रदायिक सौहार्द के माहौल को बिगाड़ा है। इस मौके पर उनके साथ उत्तराखण्ड लोक वाहिनी के अध्यक्ष डॉ शमशेर सिंह बिष्ट, उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी, दीवान सिंह बिष्ट, पूरन चंद्र तिवारी, गोविंद सिंह भंडारी, दयाकृष्ण कांडपाल, रमेश मलड़ा, पूरन चंद्र तिवारी सहित अनेक सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद रहे।