चार मार्च शिवरात्रि को तय होगी केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि

Publish 28-02-2019 11:27:30


चार मार्च शिवरात्रि को तय होगी केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि

 

अल्मोड़ा 07 अगस्त,  जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने बताया कि वर्तमान मानसून काल में प्रदेश के विभिन्न स्थनों में भारी वर्षा हो रही है। उन्होंने बताया कि जनपद में भी कुछ स्थानों पर भारी वर्षा हुयी है जिससे अनेक स्थानों पर नुकसान पहुॅचा है इस में जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों/तहसीलदारों को निर्देश दिये है कि आपदा क्षति एवं प्रभावितों को मुआवजा राशि तत्काल वितरित की जाय तथा किसी भी क्षति की सूचना जिला आपदा परिचालन केन्द्र को तत्काल दी जाय। जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में दैवीय आपदा से क्षति एवं प्रभावितो ंको 918300.00 (नौ लाख अठारह हजार तीन सौ रू0) की सहायता राशि वितरित की जा चुकी है। जिनमें रू 3800 अहैतुक सहायता, आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त 41 भवनों हेतु 213200 रू0, तीक्ष्ण क्षतिग्रस्त रूप से 02 भवनों हेतु 203800 रू0, गौशाला क्षति हेतु 02 गौशाला स्वामियो को 4200 रू0, पशुहानि हेतु 03 पशु स्वामियो को 89000रू0, 01 घायल व्यक्ति को 4300 रू0 एवं तहसील अल्मोड़ा में एक मृतक परिवार को कुल 4.00 लाख रू0 वितरित किये गया। । जिलाधिकारी ने बताया जनपद को कुल 5.00 करोड रू0 आपदा मद में प्राप्त हुए हैं जिसमें से जनपद की समस्त तहसीलों को आपदा से निपटने के लिये 1.6 करोड़ रू0 आवंटित किया गया है।
    इसके अलावा जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग से जुडे अधिकारियों को निर्देश दिये है कि मोटर मार्ग अवरूद्ध होने की दशा में यथाशीध्र खोलने की कार्यवाही की जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि यदि किसी मोटर मार्ग को खोलने में अधिक समय लगता है तो वैकल्पिक मार्गों से यातायात सुचारू किया जाय। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जनपद में सभी राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य मार्ग एवं अन्य जनपद मार्ग यातायात हेतु सुचारू है। जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में 05 ग्रामीण मोटर मार्ग मलवा आने के कारण अवरूद्ध है जिनमें मॉसी से कबडोला वाया कनरे, सौधार से पनुवाद्योखन, देघाट से चिन्तोली, भवनगाड़ से मनगॉव एवं नौकुचिया से रथमल मोटर मार्ग हैं। इन मोटर मार्गों के खुलने की सम्भावित तिथि 08 अगस्त, 2018 है।

To Top