कार्तिक पूर्णिमा को स्नान दान करने से क्या-क्या लाभ होते हैं या जाने

Publish 22-11-2018 17:39:10


कार्तिक पूर्णिमा को स्नान दान करने से क्या-क्या लाभ होते हैं या जाने

कोटद्वार/पौड़ी। जनपद पौड़ी गढ़वाल में नए शिक्षण सत्र शुरू होने के साथ ही प्राइवेट स्कूल की मनमानी सामने आने लगी है। प्राइवेट स्कूलों द्वारा जहां हर साल एडिमिशन के नाम पर अभिभावकों की जेबों पर डाका डाला जा रहा है, वहीं कापफी, किताबों व ड्रेस भी अनुबंधित दुकानों में मिलने से दुकानदार मनमानी कर रहे हैं। विगत दिवस यहां चर्च रोड़ पर एक प्राइवेट स्कूल के अनुबंधित दुकान पर ड्रेस की कीमत को लेकर अभिभावक और दुकानदार के बीच खूब झड़प भी हुई। प्रशासन से शिकायत के बाद उपजिलाधिकारी ने बीईओ को जांच के निर्देश दिए है।
नगर व आस-पास के प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में नए शिक्षण सत्र शुरू होने के साथ ही उनकी मनमानी सामने आने लगी है। प्राइवेट स्कूलों द्वारा हर साल की तरह ही इस साल भी एडमिशन के नाम पर अभिभावकों की जेबों पर डाका डाला जा रहा है। स्थिति यह है कि प्रवेश शुल्क के नाम पर जहां तीन महीनें की एडवांस पफीस जमा कराई जा रही है, वहीं प्रवेश के नाम पर प्रत्येक कक्षा में चंदा भी वसूला जा रहा है। इतना ही नहीं विकास शुल्क भी वसला जा रहा है। इतना ही नहीं प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी व प्राइवेट सभी स्कूलों में एनसीआरटी के पाठय पुस्तके पढ़ाए जाने के निर्देश के बाद भी अपना पाठ्यक्रम थोपा जा रहा है और इसके साथ ही अनुबंधित दुकानों से ही कापफी किताबें खरीदने का दबाव भी अभिभावकों पर डाला जा रहा है। स्थिति यह है कि अनुबंधित दुकान मनमाने दामों पर किताबें बेच रहे हैं। इसके अलावा स्कूल ड्रेस भी प्रतिवर्ष परिवर्तित कर इसे अनुबंधित दुकानदारों को ठेके दिए जा रहे हैं। दुकानदार मनमाने मूल्यों पर स्कूल ड्रेस बेचकर अभिभावकों की जेबों पर डाका डाल रहे है। हाल ही में यहां चर्च रोड़ स्थित एक स्कूल की ड्रेस को लेकर अभिभावक और दुकानदार की कापफी झड़प भी हुई।बावजूद इसके स्थानीय प्रशासन की ओर से प्राइवेट स्कूल प्रबंधन के खिलापफ कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

क्या कहते हैं स्थानीय लोग
फाइट अगेंस्ट क्रप्शन के अध्यक्ष अनूप थपलियाल का कहना है कि निजी स्कूल नए शिक्षण सत्र के दौरान मनमानी पर उतारू रहते हैं और मामले को लेकर उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौपकर कार्यवाही की मांग की गई है।

क्या कहते हैं अधिकारी
निजी स्कूलों की मनमानी की शिकायतें मिली हैं और इस संबंध में उप शिक्षा अधिकारी दुगड्डा को जांच कर कार्यवाही के लिए निर्देशित किया गया है। ...............राकेश तिवारी उपजिलाधिकारी तहसील कोटद्वार।

To Top