श्रीमद्भागवत कथा का भव्य आयोजन

Publish 05-06-2019 20:16:53


श्रीमद्भागवत कथा का भव्य आयोजन

देहरादून । सांई संस्थान सिद्धपीठ मंदिर नकरौंदा देहरादून क्षेत्र में चल रही पुलवामा में शहीद जवानों के निमित्त श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन कराया जा रहा है । सनातन धर्म के 18 पवित्र पुराण हैं, जिनमें एक भागवत् पुराण भी है। इसे श्रीमद्भागवत या केवल भागवतम् भी कहते हैं। यह जगत के पालक श्रीविष्णुजी के धरती पर लिए गए 24 अवतारों के साथ उस दौरान उनके जीवन की कथा का भावपूर्ण वर्णन है। 12 खंडों के इस ग्रंथ में 335 अध्याय तथा 18 हजार श्लोक हैं। इसके 10वें अध्याय में श्रीकृष्ण का जीवन सार कुछ इस प्रकार वर्णित है क यह समस्त प्राणियों के लिए सांसारिक जीवन जीते हुए ज्ञान तथा मुक्ति का मार्ग दिखाता है।
कथा व्यास आचार्य दीपक पंत ने बताया कि श्रीमद्भागवत कथा सुनना और सुनाना दोनों ही मुक्तिदायिनी है तथा आत्मा को मुक्ति का मार्ग दिखाती है। भागवत पुराण को मुक्ति ग्रंथ कहा गया है, इसलिए अपने पितरों की शांति के लिए इसे हर किसी को आयोजित कराना चाहिए। इसके अलावा रोग-शोक, पारिवारिक अशांति दूर करने, आर्थिक समृद्धि तथा खुशहाली के लिए इसका आयोजन किया जाता है। कथा वाचक आचार्य दीपक पंत ने बताया कि आत्मा परमात्मा का अंश है यह नश्वर है सिर्फ इस शरीर का ही नाश होता है, कथा में श्री कृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन किया गया जिसमें  मुख्य रूप से पूतना वध, अघासुर वध ,बकासुर वध ,कालिया नाग मर्दन और अनेकों दानवों का वध बताया गया एवं सुमधुर भजनों के साथ कथा को विराम दिया गया ।

To Top