*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

19 मई को खुलेंगे चतुर्थ केदार रुद्रनाथ के कपाट

11-02-2019 22:15:25


अल्मोड़ा  | सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में माल रोड को धारानौला को जोड़ने के लिए  कांग्रेस शासन काल में स्वीकृत सुरंग निमार्ण दृढ़ राजनैतिक इच्छाशक्ति के चलते खटाई में  पड़ चुकी है। यहां के वाशिंदों को उम्मीद थी कि केंद्र व प्रदेश में भाजपा की सरकार होने से यहां पूर्व में स्वीकृत 1228 मीटर लंबी सुरंग निमार्ण कार्य हो सकेगा, परंतु सियासतदां की उदासीनता के चलते अब टनल निर्माण दूर की कोड़ी साबित हो रहा है।
   ज्ञातव्य हो कि, सुरंग निर्माण के लिए विशेषज्ञो की रिपोर्ट मिलने के बाद सवा साल पहले लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खण्ड द्वारा लोवर माल रोड से धारानौला सिकुड़ा बैंड तक टनल बनाने की फिजिविलिटी रिपोर्ट शासन को भेजी जा चुकी थी। लेकिन, इससे अब तक अनुमोदन नहीं मिल सका है। कांग्रेस के शासनकाल में वर्ष 2015 में तत्कालीन मुख्य मंत्री हरीश रावत ने शहर में टनल बनाने की घोषणा की थी, बकायदा, वर्ष 2016 मे कांग्रेस सरकार ने टनल के निर्माण की संभावनाओं को जांचने के लिए फिजिविलिटी परीक्षण को हरी झंडी देते लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खण्ड को पचास लाख की धनराशि अवमुक्त कर दी। धनराशि मिलने के बाद लोनिवि ने टनल निर्माण को फिजिविलिटी परिक्षण का कार्य गुड़गांव की एम वर्ग इंजीनियरिंग कंपनी को सौंपा। जिसके बाद कार्यदायी संस्था के इंजीनियर्स ने  ने लोवर माल रोड वर्कशार्प के निकट से धारानौला सिकुड़ा बैंड तक टनल निर्माण को फिजिविलिटी परीक्षण करते हुए इसे उपयुक्त पाया। कंपनी ने 2016 में अपनी रिपोर्ट लोनिवि प्रांतीय खण्ड को सौंप दी। लेकिन, फिजिविलिटी रिपोर्ट्स को प्रदेश शासन से अनुमोदन न मिल पाने के कारण अब तक टनल निर्माण का कार्य अधर में लटका पड़ा है। लोनिवि प्रांतीय खण्ड के अधिशासी अभियंता का कहना है कि विभाग द्वारा रिपोर्ट शासन को भेजी जा चुकी है। इस मामले मे अब शासन स्तर से ही कार्यवाही होनी है।