10 मई को बदरीनाथ धाम के साथ खुलेंगे भविष्य बदरी के कपाट

Publish 10-02-2019 16:58:51


10 मई को बदरीनाथ धाम के साथ खुलेंगे भविष्य बदरी के कपाट

गोपेश्वर/चमोली(जगदीश पोखरियाल)।  चमोली जिले के विकास खंड जोशीमठ के सुभांई गांव के समीप स्थित भविष्य बदरी के कपाट खुलने की तिथि का निर्धारण भी बसंत पंचमी के मौके पर भविष्य बदरी मंदिर के कपाट खुले की तिथि भी घोषित हो गई है। पौराणिक मान्याताओं के अनुसार बदरीनाथ धाम और भविष्य बदरी मंदिर के कपाट एक ही तिथि और समय पर खोले जाते हैं।

भविष्य बदरी मंदिर के पुजारी सुशील  ड़िमरी ने बताया कि निर्धारित तिथि को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के साथ भविष्य बदरी मंदिर के कपाट भी ग्रीष्मकाल में श्रद्धालुओं के दर्शन के लिये खोल दिये जाएंगे। इस दौरान धार्मिक परम्पराओं के अनुसार मंदिर में पूजा अनुष्ठान का आयोजन किया जाएगा। भविष्य बदरी मंदिर में भगवान विष्णु की शालिग्राम की मूति के साथ पूर्ण बदरीश पंचायत की पूजा अर्चना की जाती है। यह मंदिर जोशीमठ-मालारी हाईवे पर जोशीमठ से 18 किमी सडक मार्ग व पांच किमी पैदल मार्ग की दूरी पर सुंभाई गांव के समीप स्थित है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भविष्य में बदरीनाथ धाम का मार्ग पटमिला में बंद हो जायेगा। जिसके बाद भगवान बदरी विशाल की पूजा भविष्य बदरी में ही की जाएंगी।

To Top