बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की प्रक्रिया हुई शुरूः गाडु घडा हुआ नृसिंह मंदिर से रवाना

Publish 07-02-2019 19:57:46


बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की प्रक्रिया हुई शुरूः गाडु घडा हुआ नृसिंह मंदिर से रवाना

जोशीमठ/चमोली(संजय कुँवर)।  भू बैकुंठ धाम बद्रीनाथ के कपाट खोलने की तैयारियों का बीकेटीसी ने गुरूवार से शुभारंभ कर दिया है। शंकराचार्य की तपस्थली ज्योर्तिमठ स्थित भगवान नृसिंह मंदिर में विधि-विधान के बाद छह माह तक भगवान बदरीविशाल की पूजा में प्रयुक्त होने वाले तेल के लिए गाडु घडा रवाना हो गया है।
गुरूवार को बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल की उपस्थिति में मंदिर समिति के धर्माधिकारी आचार्य भुवन चंद्र उनियाल सहित अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में विशेष पूजा अर्चना के बाद भगवान श्री हरि नारायण की पूजा में प्रयुक्त होने वाले तेल के लिए तेल कलश (गाडु घड़ा) की पूजा अर्चना की गई। इस मौके पर बदरीनाथ धाम के हक हकूकधारी डिमरी पंचायत की उपस्थिति में इस दिव्य तेल कलश को गाजे बाजों के साथ पांडू नगरी और योग ध्यान बद्री पांडुकेश्वर की ओर रवाना किया गया। जहां से यह दिव्य कलश नरेंद्र नगर टिहरी राज दरबार में पहुंचेगा। जहां बसंत पंचमी के दिन टिहरी दरबार की में एक भव्य आयोजन के तहत सुहागिन महिलाओं और कुंवारी कन्याओं के माध्यम से पिरोए गए तिल के तेल को इस भव्य दिव्य कलश में रखा जाएगा। इसी दिन बसंत पंचमी को ही टिहरी राजदरबार के राजपुरोहित इस वर्ष श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि की घोषणा भी की जाएगी तत्पश्चात यह गाडु घड़ा कपाट खुलने की तारीख से पूर्व श्री बदरी नाथ धाम पहुंच जाएगा।

To Top