*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

16 जुलाई शाम से 17 जुलाई प्रात: तक चंद्र ग्रहण के दौरान रहेंगे कपाट बंद - धर्माधिकारी

14-07-2019 13:46:39

श्री गंगोत्री- यमुनोत्री धाम, श्री नृसिंह मंदिर,पंच बदरी-पंच केदार, श्री कालीमठ, श्री त्रिजुगीनारायण, ग्रहण काल में बंद रहेंगे

गोपेश्वर । 17 जुलाई के चंद्रग्रहण के कारण 16 जुलाई को सांय 4:25 बजे से बदरीनाथ, केदारनाथ, बदरी-केदार के अधीनस्थ मंदिरों, सहित गंगोत्री, यमुनोत्री धाम के रहेंगे कपाट बंद होंगे। चंद्रग्रहण 17 जुलाई रात 1:31बजे से लेकर 4:31 बजे तक है। ग्रहणकाल से नौ घंटे पहले सूतक काल माना जाता है। जिसके चलते सूतक काल में मंदिर बंद रहेगे। 17 जुलाई को प्रात: 4:40 बजे  बदरीनाथ मंदिर खुलेगा और छह बजे से अभिषेक पूजा शुरू होगी। 17 जुलाई रात 1:31 बजे से प्रात: 4:31 बजे तक तीन घंटे का चंद्रग्रहण है। ग्रहणकाल से नौ घंटे पहले सूतक काल माना जाता है। इसका असर देश-विदेश के सभी मंदिरो पर भी पड़ेगा जिस कारण ठीक नौ घंटे पहले मंदिर बंद हो जायेंगे। भू बैकुंड धाम की बात करे तो बदरीनाथ के कपाट 16 जुलाई को शाय 4:25 बजे बंद हो जायेगे। इसके लिए सांय 3:15 बजे सायंकालीन मंगल आरती पूजा होगी। 3:45 बजे भोग और शयन आरती होगी तथा सांय 4:25 बजे मंदिर के कपाट बंद हो जाएंगे

बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवनचन्द्र उनियाल ने बताया कि 16 व 17 जुलाई  को रात 1:31 बजे से 4:31 प्रात: तक चंद्रग्रहण है। ग्रहणकाल से नौ घंटे पूर्व सूतक काल लग जाता है। इसलिए बदरीनाथ धाम के कपाट सायं 4:25 बजे बंद हो जायेगा। भगवान बदरीनाथ को  अपराह्न  3:15 बजे सायंकालीन पूजा मंगल आरती 3:45 अपराह्न भोग और शयन आरती होगी। सायं 4:25 बजे मंदिर बंद होगा। 17 जुलाई को प्रात: 4:40 बजे बदरीनाथ धाम की घंटी बजेगी। छह बजे अभिषेक पूजा होगी उसके बाकि पूजा यथावत चलेगी।  श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि श्री बदरीनाथ एवं श्री केदारनाथ मंदिर सहित नृसिंह मंदिर जोशीमठ, माता मूर्ति  मंदिर बदरीनाथ, श्री आदि केदारेश्वर मंदिर बदरीनाथ, सभी पंच बदरी मंदिर, पंच केदार, श्री कालीमठ मंदिर, श्री त्रिजुगीनारायण मंदिर ग्रहणकाल में बंद रहेंगे। साथ ही गंगोत्री धाम, यमुनोत्री मंदिर भी चंद्रग्रहण के सूतक काल से ग्रहण समाप्ति तक बंद रहेंगे। 17 जुलाई को शुद्धिकरण पश्चात यथावत पूजा-अर्चना शुरू हो जायेगी।