जहरीली शराब प्रकरण में दोषी पर होगी कड़ी कार्यवाही - स्वराज विद्वान

Publish 14-02-2019 0:49:57


जहरीली शराब प्रकरण में दोषी पर होगी कड़ी कार्यवाही - स्वराज विद्वान

 

फतेहपुर चौरासी उन्नाव (रघुनाथ)|  क्षेत्र में कल दोपहर से हो रही बारिश से किसानों में खुशी की लहर दौड़ गई। आषाढ़ मास के 15 दिन बीतने के बाद हुई बारिश से किसान बेहद खुश नजर आ रहे हैं किसानों का यह मानना है की अभी गनीमत है जो बारिश हो गई हम लोग अपनी फसल को बो सकते हैं । और अभी भी फसल बोने से कोई हानि नहीं होगी पहले बोई गई थी जो फसल वह फसलें भी जीवित हो गई किसान अपने खेतों में बुवाई करने के लिए बारिश बंद होने का इंतजार कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सड़कों की खुली पोल | काली मिट्टी दबौली मार्ग पर दुगवां कटान पर बने  पुल के दोनों छोरों की सड़क आज पहली बरसात में धंस गई है जिससे जहाँ कोई बड़ा हादसा होने के आसार बढ़ गये है वहीं निर्माण कराए कार्य की गुणवत्ता की भी पोल खुलकर उजागर हो गई है।


  बताते चलें कि वर्ष 2010 की बाढ़ विभीषिका में क्षेत्र की तमाम सड़कें बाढ़ में बह गई थी। बाढ़ विभीषिका के साथ काली मिट्टी दबौली मार्ग भी दर्जनों स्थानों कट गया था। सबसे अधिक सड़क की कटान दुगवां और लवानी गाँव के बीच हो गया था। क्षेत्र के दर्जनों गाँवों के लोगों को फतेहपुर चौरासी आने के लिये समस्याओं से जूझना पड़ता था। जानकारी के अनुसार क्षेत्रीय क्षेत्र पंचायत ने दुगवां गाँव से खड़न्जा लगाकर एक बाई पास बनवा दिया था, जिससे लोगों की फतेहपुर चौरासी या उससे आगे जाने की सुविधा बढ़ गई, वर्ष 2012 में प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने के बाद तत्लालीन क्षेत्रीय सपा विधायक बदलू खाँ  के प्रयासों से दुगवां गाँव के पास हुई कटान पर राज्य योजना के तहत लोक निर्माण विभाग द्वारा एक करोड़ छःलाख पाँच हजार की धनराशि खर्च करके 40 मीटर लम्बा पुल बनाया गया। पूर्व विधायक बदलू खाँ ने 20 दिसंबर 2016 को इस पुल का लोकार्पण करके क्षेत्रीय जनता को पुल समर्पित कर दिय था।
  आज जब  इस मौसम की बरसात पहली झमाझम बरसात हुई तो एक करोड़ की अधिक धनराशि से बने पुल के दोनों तरफ की सड़क पहली बरसात भी नहीं बर्दाश्त कर पाई  और धंस गई , सड़क एक नहीं कई स्थानों पर धंस गई, नये पुल के पास की सड़क मौसम की पहली बरसात नहीं झेल पाई, यह जानकर लोगों को आश्चर्य भी है। यहाँ उल्लेखनीय है कि यह सड़क पुल पर पहुँच मार्ग है। जो पुल निर्माण के साथ  ही बनी थी। सड़क धसने से‌ जहाँ दुर्घटना होने का संसय बढ़ गया है, वहीं सड़क पहली बरसात भी नहीं झेल पाई जिससे स्पष्ट है कि मार्ग की गुणवत्ता कितना मानक के अनुसार है। फतेहपुर चौरासी विकास खण्ड मुख्यालय के साथ ही पुलिस स्टेशन और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तक पहुंचने के लिए क्षेत्र के कई दर्जन गाँवों के ग्रामीण इसी मार्ग से ही जाते हैं।

To Top