भारी बारिश के चलते मनीष खंडूड़ी के नामांकन में उमड़ा जन सैलाब

Publish 25-03-2019 19:04:16


भारी बारिश के चलते मनीष खंडूड़ी के नामांकन में उमड़ा जन सैलाब

पौड़ी गढ़वाल । मनीष खंडूड़ी वो नाम है, जिसने उत्तराखंड राजनीति में एक नई बहस खड़ी कर दी है। उनको हर कोई अपने पिता जनरल बीसी खंडूड़ी के राजनीतिक वारिश के रूप में देखना चाहता था, लेकिन उन्होंने कांग्रेस का दामन थामकर एक नई राजनीति और बहस को जन्म दे दिया। आज पहले चरण के नामांकन का आखिरी दिन था। नामांकन में भीड़ी के आंकड़ों को नेता की ताकत की तौर पर देखा और आंका जाता है। अगर भीड़ी नेता की ताकत का आंकलन है, तो मनीष खंडूड़ी ने आज पौड़ी में नामांकन के दौरान अपनी ताकत का एहसास बड़ी मजबूती से करा दिया है। बात केवल इतनी भर नहीं है। बात यह है कि 29 साल बाद जनरल खंडूड़ी के घर पर पंजा फहराया गया। जाहिर है, भाजपा का झंडा अब वहां से हटा दिया गया है।


मनीष खंडूड़ी के नामांकन में भारी भीड़ी उमड़ पड़ी। भीड़ को देख कर कोई हैरान था। लोग यह आंकलन करते दिखे कि दो दिन पहले राजनीति में कदम रखने वाले मनीष को इतना समर्थन कहां से और कैसे मिल रहा है। ये भीड़ी भाजपा को डराने के लिए भी काफी है। भाजपा अब तक दावे कर रही थी कि मनीष को नहीं जानता, लेकिन जिस तरह से भीड़ी उमड़ी, उससे एक बात तो साफ हो गई कि मनीष को बहुत लोग जानते हैं। नामांकन के दौरान मनीष खंडूड़ी का जोश तो देखने लायक था ही। उनके समर्थक भी पूरे जोश में नजर आए। भारी बारिश के बीच भी मनीष खंडूड़ी के समर्थन में उमड़ी भीड़ी जमी रही। लोगों ने अपने नेता के लिए जमकर नारेबाजी भी की। लोगों का ये जोश भाजपा के जुबानी हमलों का जवाब देने में सफल नजर आता है। इससे भाजपा को नए सिरे से सोचने की जरूरत भी है।
उन लोगों के लिए भी एक संदेश है, जो जनरल खंडूड़ी को लेकर गलत बयानबाजी कर रहे हैं। उनको मनीष को मिले समर्थन से कम से कम इतना तो समझ में आ ही गया होगा कि मनीष के साथ कांग्रेस के कार्यकर्ता तो थे ही। भाजपा के भी कई कार्यकर्ता भीड़ के बीच नजर आ रहे थे। कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में मनीष के समर्थन का यह आंकड़ा और बढ़ सकता है।

To Top