मतदान स्थलों पर जाने वाले कार्मिको को डीएम धीराज सिंह की सख्त हिदायत : नही करेगे किसी का आतिथ्य स्वीकार

Publish 02-04-2019 19:04:31


 मतदान स्थलों पर जाने वाले कार्मिको को डीएम धीराज सिंह की सख्त हिदायत : नही करेगे किसी का आतिथ्य स्वीकार

पौड़ी : लोकसभा की तैयारियों को लेकर आयोजित कार्यशाला में सेक्टर मजिस्ट्रेटों, पीठासीन अधिकारियों और पोलिंग पार्टिंयों के कार्मिकों को ईवीएम, वीवीपैट और बैलेट यूनिट संचालन के तकनीकी जानकारियां दी गई। इस दौरान जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने प्रेक्षागृह हॉल और नगरपालिका के बारात घर में संचालित कार्यशालाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने मास्टर ट्रेनरों द्वारा मशीनों के संचालन की तकनीकी जानकारियों का मुआयना भी किया।


    जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने मतदेय स्थलों को जाने वाले कार्मिकों को सख्त हिदायत दी कि कोई भी कार्मिक किसी भी परिचित और अपरिचित अथवा ग्रामीणों का आतिथ्य स्वीकार नहीं करेगा। यहीं नहीं मतदान कार्यों से जुड़े कार्मिक किसी के घर पर भी नहीं रूक सकेंगे। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग की सभी संबंधित और मतदान के जिम्मेदार कार्मिकों पर नजर रखेगा। किसी भी प्रकार की चूक के लिए संबंधित कार्मिक ही जिम्मेदार होगा। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि निर्वाचन आयोग के पास सभी कार्मिकों के मोबाइल नंबर हैं। जिन्हें किसी भी समय ट्रैक किया जा सकता है। उन्होंने कार्मिकों के मनोबल को बढ़ाते हुए कहा कि कुछ कार्मिकों ने कई चुनावों को सम्पन्न कराया है तो कुछ कार्मिक अपने पहले चुनाव को भी सम्पन्न कराएंगे। ऐसे में उन्होंने नये कार्मिकों को पुराने और अनुभवी कार्मिकों के अनुभवों का भी लाभ प्राप्त करने को कहा।

जिलाधिकारी ने मतदान दिवस को लेकर अपने अनुभव भी साझा किये। उन्होंने कहा कि मतदान के लिए रवाना होने वाली टीमों चुनाव शांतिपूर्वक एवं निष्पक्ष निपटाने में अपनी अहम भूमिका अदा करें। इसके अलावा चुनाव को सौहार्दपूर्ण सम्पन्न करने में सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने बताया कि दूर के मतदान स्थलों के लिए पोलिंग पार्टियां 9 अप्रैल को जबकि जिला मुख्यालय के समीप मतदान स्थलों के लिए 10 अप्रैल को रवाना होंगी। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय के 5 से 13 किमी की दूरी के मतदेय स्थलों के लिए दो-दो ईवीएम सेट अतिरिक्त रूप से उपलब्ध करायी जाएंगी। इससे पूर्व जिलाधिकारी ने नगर पालिका के बारात घर में संचालित ईवीएम प्रशिक्षण केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने मास्टर ट्रेनरों के द्वारा कार्मिकों को दिये जा रहे प्रशिक्षण का मुआयना किया। जिलाधिकारी ने मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षण की बारीकी से जानकारी कार्मिकों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कहा कि प्रशिक्षण से सभी कार्मिकों को ईवीएम की गहराई होनी आवश्यक है। कार्यशाला के दो चरणों में सेक्टर मजिस्ट्रेट, पीठासीन अधिकारियों समेत करीब पांच सौ पोलिंग पार्टिंयों के कार्मिकों को ईवीएम, बैलेट यूनिट तथा वीवी पैट की तकनीकी जानकारियां दी। इस मौके पर मास्टर ट्रेनर एमएम खान, पंकज जैन, दीपक रावत आदि मौजूद रहे।

To Top