विधायकों को पार्टी भक्ति छोड़ प्रदेश की जनता की भक्ति में ध्यान देना चाहिए - राजपाल सिंह

Publish 15-03-2019 19:28:20


 विधायकों को पार्टी भक्ति छोड़ प्रदेश की जनता की भक्ति में ध्यान देना चाहिए - राजपाल सिंह

कोटद्वार / गढ़वाल : उत्तराखण्ड विकास पार्टी के उपाध्यक्ष राजपाल सिंह रावत ने गुरुवार को चमोली जिले के जोशीमठ ब्लॉक के उर्गम घाटी के किमाणा गाँव की महिला विजय देवी को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाने के लिए 14 किलोमीटर पैदल कंधे पर उठा कर लाने की घटना पर दुःख व्यक्त किया।


राजपाल सिंह रावत ने कहा कि आज राज्य सरकारें सड़कों और स्वास्थ्य पर अरबों रुपयों का बजट खर्च करती हैं पर सीमांत क्षेत्रों में रहने वाले मूल निवासियों को इन अरबों रुपयों के खर्च में एक पैसा भी नसीब नहीं होता। आश्चर्य की बात ही कही जाएगी कि देहरादून में विधानसभा वाली सड़क इन अठारह सालों में नौ बार बन चुकी है मगर उर्गम घाटी का किमाणा गाँव आज भी एक अदद सड़क से महरूम है। यह तो तब हाल है जब प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से हर गाँव को जोड़ने की बात है। यकीनन यह गाँव आबादी की वजह से उक्त योजना में नहीं लिया गया होगा।हमारे नेताओं ने कभी कोशिश नहीं की कि गाँवों की आबादी के मानक को सही किया जाय।  यहाँ का प्रतिनिधित्व कर रहे विधायकों को पार्टी भक्ति छोड़ प्रदेश की जनता की भक्ति में ध्यान देना चाहिए। भाजपा सरकार यदि वास्तव में पलायन रोकना चाहती तो सड़क शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करे नहीं तो सरकार का बाप भी पलायन नहीं रोक सकता। देहरादून का सुख छोड़ विधायक पहाड़ को राजधानी नहीं बनाएंगे तो ऐसी दुःखद स्थितियों का सामना मूल निवासियों को करना ही पड़ेगा।

To Top