*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

मच्छर जागा और नगर निगम सोया

06-08-2019 18:32:37

कोटद्वार (गौरव गोदियाल):  नगर निगम बनने के बावजूद शहर में कुछ नहीं बदला है। वर्तमान में शहर में मच्छरों का प्रकोप है। मलेरिया के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मगर मच्छरों के खात्मे के लिए नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग के पास कोई कार्ययोजना अभी तक नहीं है। रोस्टर भी अभी तक नहीं बना है। अधिकारियों का कहना है कि उनके पास फॉगिंग के लिए बजट नहीं है।बरसात के मौसम में शहर में जगह.जगह जलभराव और गंदगी के कारण मच्छर पैदा हो रहे हैं। मच्छरों के प्रकोप से बचने के लिए लोग अपने स्तर से कदम उठा रहे हैं। मगर नगर निगम का स्वास्थ्य विभाग अभी सोया है। गर्मी लगभग बीत चुकी हैं। मगर शहर में अभी तक फॉगिंग नहीं हुई है। शहर के लोग व पार्षद प्रार्थना पत्र देकर अपने मोहल्लों में फॉगिंग की मांग कर रहे हैं। इसके बावजूद नगर निगम ने हाथ खड़े किए हुए हैं। विभागीय सूत्रों ने बताया कि फॉगिंग आदि के लिए निगम के पास अलग से कोई बजट नहीं है। ऐसे में अभी तक फॉगिंग के लिए रोस्टर भी नहीं बनाया गया है।
’शहर में शामिल गांवों का हाल बेहाल’
जिन गांवों को शहर में शामिल कर नगर निगम की स्थापना की गई थी। उन गांवों में नगर निगम में शामिल होने के बाद आज तक फॉगिंग या एंटी लार्वा का छिड़काव नहीं हुआ है। काशीरामपुर निवासी अमित गुप्ता, लालपानी निवासी भगत और झंडीचौड निवासी सतेन्द्र चौहान ने बताया कि निगम में शामिल होने से पहले गांवों में दवाओं का छिड़काव हुआ करता था. मगर निगम में शामिल होने के बाद वह भी बंद हो गया। उन्होंने बताया कि निगम में शामिल होने के बाद आज तक गांवों में फॉगिंग नहीं हुई है। एंटी लार्वा का छिड़काव तो दूर की बात है।

’डेंगू.मलेरिया से रहें सावधान’
डॉ. सुनील शर्मा के मुताबिक मलेरिया व डेंगू के प्रति भी लोग सावधान रहें। जराए सी लापरवाही में मच्छरजनित बीमारिया जानलेवा साबित हो सकती हैं। ऐसे में डेंगू व मलेरिया से खास सतर्कता बरतने की जरूरत है।


क्या कहते है अधिकारी
फॉगिंग के लिए हमारे पास अलग से बजट नहीं है। इसलिए हमें फॉगिंग की व्यवस्था अपने स्तर से करनी होती है। फॉगिंग के लिए अभी तक रोस्टर नहीं बना है। जल्द ही रोस्टर बना लिया जाएगा। हमारी कोशिश है कि एक सितंबर से हम सभी वार्डो में फॉगिंग शुरू करा देंगे। हालांकि शहर के नदीएनालो से सटे कुछ इलाकों में हमने फॉगिंग कराई भी है।
सुनील कुमार, सफाई निरिक्षक