*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

ऊंट के मुंह में जीराः जिले में शिक्षकों के पद खाली 807 मिले 53

03-08-2019 20:16:09

गोपेश्वर। आपने ऊंट के मुंह में जीरा वाली कहावत तो सुनी ही होगी। बस वही कहावत चमोली के शिक्षा विभाग पर भी आजकल सटिक बैठ रही है। चमोली जिले के सरकारी विद्यालयों में शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये सरकार की ओर से किये जा रहे प्रयास नाकाफी नजर आ रहे हैं। चमोली जिले के सरकारी विद्यालयों में वर्तमान में प्रवक्ता और सहायक अध्यापकों के कुल 807 पद रिक्त पड़े हुए हैं। जबकि बीते दिनों शिक्षा निदेशालय की ओर से किये गये स्थानांतरण में जिले में बाहारी जनपदों से महज 53 शिक्षकों तबादला किया गया था। ऐसे में चमोली जिले में शिक्षा को लेकर सरकार के प्रयासों का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।
सरकारी विद्यालयों में छात्र संख्या बढाने और शिक्षा की गुणवत्ता बढाने को लेकर सरकार की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। लेकिन सरकार की ओर से विद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती के प्रयास नाकाफी नजर आ रहे हैं। चमोली जिले में वर्तमान में प्रवक्ताओं के 522 और सहायक अध्यापकों के 285 पद रिक्त चल रहे हैं। ऐसे में निदेशालय की ओर से मई माह में अनुरोध और अनिवार्य स्थानांतरण के तहत जिले में बाह्य जनपदों से 36 प्रवक्ताओं और 17 सहायक अध्यापकों का स्थानांतरण किया गया। जिनमें से किसी भी शिक्षक ने अभी तक जिले में तैनाती नहीं दी गई। जबकि जिले से बाह्य जिलों के लिये 25 प्रवक्ताओं और 59 सहायक अध्यापकों का स्थानांतरण किया गया। जिनमें करीब आधा दर्जन लोगों ने नये तैनाती स्थल पर तैनाती दे दी गई। हालांकि शासन की ओर से स्थानांतरण पर रोक लगाने के बाद स्थानांतरण पा चुके शिक्षक अभी भी जिले में सेवाएं दे रहे हैं। ऐसे में जिले के सरकारी विद्यालयों में शिक्षा के सुधार को लेकर सरकार के दावे हवा हवाई होते नजर आ रहे हैं।

क्या कहते है अधिकारी
शासन की ओर से चमोली में रिक्त चल रहे प्रवक्ताओं और सहायक अध्यापकों की सूची शासन को भेजी गई है। उच्चाधिकारियों से विद्यालयों में शिक्षकों की कमी से हो रही दिक्कतों के बारे में भी रिपोर्ट दी गई है। वर्तमान में जिले में 807 प्रवक्ता और सहायक अध्यापकों के पद रिक्त हैं।
ललित मोहन चमोला, मुख्य शिक्षा अधिकारी, चमोली।