*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

चमोली : सात साल बाद फिर से शुरू हुआ तपोवन-विष्णुगाड़ जल विद्युत परियोजना टनल का काम

04-08-2019 18:35:27

जोशीमठ /चमोली(महादीप पंवार)। चमोली जिले के जोशीमठ ब्लॉक में निर्माणाधीन 520 मेगावाट की तपोवन-विष्णुगाड़ जल विद्युत परियोजना का टनल निर्माण कार्य रविवार को सात साल बाद पुनः शुरु हो गया है। वर्ष 2012 में टनल निर्माण के दौरान भारी मात्रा में पानी के रिसाव होने से टलन निर्माण कर रही टीबीएम फंस गई थी। जिसके बाद से यहां टनल का निर्माण बंद पड़ा हुआ था, लेकिन अब एचसीसी कंपनी की ओर से यहां एक बाद फिर टीबीएम का संचालन शुरु कर दिया है। जिससे परियोजना के निर्माण की आस जग गई है।
जोशीमठ ब्लॉक में एनटीपीसी कंपनी की ओर से वर्ष 2006 में 520 मेगावाट तपोवन-विष्णुगाड़ परियोजना का निर्माण कार्य शुरु किया गया। परियोजना की मुख्य टनल का निर्माण जोशीमठ नगर के नीचे से किया जा रहा है। भूगर्भीय रिपोर्ट में भूमि अत्याधिक संवेदनशील बताया गया। जिसे देखते हुए एनटीपीसी की ओर एलएनटी कंपनी के माध्यम से यहां 173 करोड़ की लागत वाली टीबीएम (टनल बोरिंग मशीन) से  वर्ष 2009 में टनल का निर्माण कार्य शुरु किया गया। जिसके बाद यहां टीबीएम से करीब छह किमी टनल का निर्माण करने के बाद वर्ष 2009 में भारी मात्रा में पानी का रिसाव होने के चलते यहां टीबीएम का संचालन ठप हो गया। 18 माह की मेहनत के बाद कंपनी ने छह मार्च 2011 को फिर टीबीएम का संचालन शुरू किया गया। लेकिन 24 अक्टूबर 2012 को यहां टनल में भारी मलबा आने टीबीएम पूरी ठप हो गई। जिसके बाद टनल निर्माण कर रही एलएंड टी कंपनी की ओर से घाटे की भरपाई के लिये एनटीपीसी से 100 करोड़ रुपये अतिरिक्त देने की मांग की गई। विवाद के बाद एलएंडटी कंपनी निर्माण कार्य छोड़ घाटे की भरपाई की मांग को लेकर न्यायालय चली गई। चार साल तक न्यायालय में हुई सुनवाई के बाद एनटीपीसी की ओर से एलएंडटी कंपनी को कालीसूची में शामिल कर दिया गया। जिसके बाद टनल निर्माण कार्य वर्ष 2016 के मार्च में एससीसी कंपनी को सौंपा दिया गया। एचसीसी कंपनी की ओर करीब ढाई साल की मशक्कत के बाद यहां रविवार को एक बाद फिर टीबीएम का संचालन शुरु कर दिया है। जिससे वर्षों से ठप पड़ी परियोजना के निर्माण की आस जग गई है।


क्या कहते है अधिकारी
परियोजना का अणिमठ स्थित पावर हाउस और स्विच यार्ड के निर्माण का कार्य लगभग 80 फीसदी पूर्ण हो चुका है। परियोजना को वर्ष 2012 में पूर्ण किया जाना था लेकिन यहां टनल निर्माण में आई दिक्कतों के चलते देर लगी है। इटली से बुलाये गए छह विशेषज्ञों की टीम कड़ी मेहनत के चलते टीबीएम का संचालन शुरु हो गया है। सोमवार से टीबीएम से विधिवत रूप से टनल निर्माण शुरु कर दिया जाएगा।
डीके मखीजा, महाप्रबंधक, एनटीपीसी, जोशीमठ।