सीवरजे लिकेज से लोग परेशान, ठीक करने की लगायी गुहार

Publish 15-03-2019 19:04:25


सीवरजे लिकेज से लोग परेशान, ठीक करने की लगायी गुहार

गोपेश्वर/चमोली(जगदीश पोखरियाल)।  चमोली जिले के जोशीमठ नगर में जल संस्थान और नगर पालिका के बीच सीवर लाइन के स्वामित्व को लेकर चल रहे विवाद के कारण नगरवासियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। एक सप्ताह से बदरीनाथ हाइवे पर नृसिंह मंदिर को जाने वाले पैदल मार्ग के समीप सीवर लाइन क्षतिग्रस्त पडी हुई है। जिससे यहां लोगों को गंदे पानी से होकर आवाजाही करने को मजबूर हैं।
बता दें कि जोशीमठ नगर में जलमल निकासी के लिये जल संस्थान और नगर पालिका प्रशासन  सीवर लाइन का संचालन कर रहा है। लेकिन यहां बदरीनाथ हाईवे पर नृसिंह मंदिर के समीप बीते कई दिनों क्षतिग्रस्त सीवर लाइन को लेकर जहां जल संस्थान और पालिका के अधिकारी लाइन के सुधारीकरण की जिम्मेदारी एक-दूसरे की बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं। जिससे सीवर लाइन के क्षतिग्रस्त होने से यहां सीवर का पानी बदरीनाथ हाइवे सहित नृंसंह मंदिर के पैदल रास्ते पर फैल रहा है। जिससे हाइवे पर आवाजाही करने वालों के साथ ही नृसिंह मंदिर आने जाने वाले लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। स्थानीय निवासी प्रकाश नैनवाल, मनमोहन नेगी, आलोक मेहता और प्रमोद सकलानी का कहना है कि कई बार नगर पालिका और जल संस्थान से लाइन सुधारीकरण की मांग की गई। लेकिन विभागीय अधिकारियों की ओर से लाइन एक दूसरे की बता कर क्षतिग्रस्त लाइन को जस का तस छोड दिया गया है।

क्या कहते हैं अधिकारी
जोशीमठ में क्षतिग्रस्त सीवर लाइन का हिस्सा नगर पालिका के अधिकार क्षेत्र में है। जिसे पालिका प्रशासन की ओर से सुधारीकरण किया जाएगा।
प्रवीण सैनी, अधिशासी अभियंता, जल संस्थान, चमोली।
नगर में सीवर लाइन का संचालन जल संस्थान की ओर से किया जाता है। लाइन के रख-रखाव की जिम्मेदारी भी विभाग की है। यदि कहीं सीवर लाइन क्षतिग्रस्त है तो मामले में विभागीय अधिकारियों से वार्ता कर लाइन का सुधारीकरण करवाया जाएगा।
सत्य प्रकाश नौटियाल, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका, जोशीमठ

 

To Top