उपजिलाधिकारी जीआर बिनवाल को स्मृति चिंह और शॉल देकर किया सम्मानित

Publish 28-02-2019 18:19:56


उपजिलाधिकारी जीआर बिनवाल को स्मृति चिंह और शॉल देकर किया सम्मानित

300 छात्रों ने विभिन्न कोर्सेज में प्रवेश लिया।
बीएसडीयू करेगा स्टेट ऑफ आर्ट रोबोटिक्स लैब का शुभारम्भ।

जयपुर 7 अगस्त, 2018 | भारत में शिक्षा की ‘स्विस ड्यूअल‘ प्रणाली शुरू करने वाले पहले विशुद्ध कौशल विश्वविद्यालय - भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू) जयपुर में शैक्षणिक सत्र 2018-19 में 300 नए छात्रों ने विभिन्न कोर्सस जैसे ऑटोमोटिव स्किल्स, कारपेन्टरी स्किल्स, कंस्ट्रक्शन स्किल्स, मशीन लर्निंग और एआई, आईटी-नेटवर्किंग स्किल्स में प्रवेश लिया। ओरिएंटेशन कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों को यूनिवर्सिटी में उपलब्ध विभिन्न सेवाओं व नियम और कायदे के बारे में बताना था।

भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के कुलपति ब्रिगेडियर (डॉ) सुरजीतसिंह पाब्ला ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि ष्ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन मुख्यतः छात्रों का तहे दिल से स्वागत करना है जो कि अलग अलग पृष्ठभूमि से यहाँ आये हुए हैं। हम इस मंच से सभी छात्रों को अपने चुने हुए स्किलस कोर्सेज में एक अच्छा करियर बनाने के बारे में बताना चाहते हैं। मैं सभी छात्रों से कठिन परिश्रम, अनुसाशन और अपने देश को आगे बढ़ाने में सर्वाधिक योगदान करने की अपील करता हूँ। साथ ही उन्होंने बीएसडीयू कैंपस में स्टेट ऑफ दी आर्ट रोबोटिक्स लैब का शुभारम्भ करने की घोषणा भी की। इसके साथ ही ब्रिगेडियर (डॉ) सुरजीतसिंह पाब्ला ने विस्तार में बीएसडीयू के छात्रों के अग्रणी होने के कारणों के साथ ही सीखने के दौरान कमाने, मल्टीपल एंट्री-एग्जिट और स्विस ड्यूल शिक्षा प्रणाली के बारे में बताया।

विभिन्न विभागाध्यक्षों ने अपने विचार साँझा करते हुए कहा कि हमारे छात्रों को उद्योग जगत से बहोत अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। सभी विभागाध्यक्षों ने अपने अपने पाठ्यक्रमों में आने वाले अवसरों पर प्रकाश डालते हुए व्याख्यान प्रस्तुत किये।  विभागाध्यक्षों ने छात्रों को ध्यान केंद्रित पढाई, कौशल के अभ्यास, रचनात्मक शिक्षा और अपने बनाये लक्ष्य को पाने के लिए सर्वश्रेष्ठ तरीकों के बारे में बताया।

 

To Top