अशासकीय विद्यालयों में नियुक्ति मामले में जांच टीम गठित

Publish 06-02-2019 17:03:21


अशासकीय विद्यालयों में नियुक्ति मामले में जांच टीम गठित

गोपेश्वर/चमोली(जगदीश पोखरियाल)। चमोली जिले के कतिपय अशासकीय विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर मामला गर्माने लगा है। जन प्रतिनिधियों ने अशासकीय विद्यालयों में शिक्षा विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के चहेतों की नियुक्ति का आरोप लगाया गया है। विभागीय अधिकारी मामले में नियमानुसार नियुक्तियों का दावा कर रहे हैं। ऐसे में सीडीओ के आदेश के बाद मामले की जांच के लिये जांच टीम गठित कर दी गई है।
बता दें कि दिसम्बर माह में जिला पंचायत की त्रैमासिक बैठक में जिला पंचायत सदस्य प्रदीप बुटोला ने जिले के अशासकीय विद्यालयों में विद्यालय प्रबंधन और शिक्षा विभाग की ओर से मनमाने तरीके नियुक्तियों का मामला उठाते हुए जांच की मांग उठाई थी। जिस पर ब्लॉक  प्रमुख प्रकाश रावत ने भी उनका समर्थन करते हुए अशासकीय राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज सलूड-डुंग्रा और चेपडों में हुई शिक्षकों की नियुक्तियों की जांच की मांग की थी। इस दौरान जिला पंचायत उपाध्यक्ष लखपत बुटोला ने भी मामले को गंभीर बताते हुए प्रशासन से नियुक्तियों की जांच करने की बात कही थी। जिस पर सीडीओ हंसादत्त पाण्डेय  ने मामले की जांच के आदेश दे दिये हैं।

क्या कहते है अधिकारी
जिले के अशासकीय विद्यलायों में हुई नियुक्तियां विभागीय नियमों के अनुरुप की गई हैं। मामले की जांच में स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।
ललित मोहन चमोला, मुख्य शिक्षा अधिकारी, चमोली।

चमोली जिले के अशासकीय सलूड-डुंग्रा और चेपडों इंटरमीडिएट कॉलेजों  में हुई नियुक्तियों को लेकर जन प्रतिनिधियों द्वारा आपत्ति दर्ज की गई हैं। मामले की जांच करने के लिये अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं।
हंसादत्त पाण्डेय , सीडीओ, चमोली।

To Top