सडक नही तो वोट नहीं : थराली के ग्रामीणों ने किया एलान

Publish 08-02-2019 23:38:17


सडक नही तो वोट नहीं :  थराली के ग्रामीणों ने किया एलान

थराली/चमोली (रमेश थपलियाल)। चमोली जिले के थराली विकास खंड के पांच से अधिक गांव वर्तमान समय में भी सडक मार्ग से वंचित है। इन गांवों के ग्रामीणों ने शुक्रवार को उपजिलाधिकारी थराली के माध्यम से उत्तराखंड सरकार को ज्ञापन भेजा है। ग्रामीणों ने कहा कि उनकी समस्या के प्रति शासन प्रशासन ने गंभीरता नहीं दिखायी तो लोक सभा चुनाव का बहिष्कार भी किया जा सकता है।
थराली विकास खंड के पांच  गांव मोटर सडक से वंचित पड़े हुए हैं। जिसमें झुडकी धार,  सिनेई मल्ली, असोटी, बज्वाड, श्यामनगर, नारायणनगर, सिनेई गांव शामिल है। जो आज भी यातायात से अछूते है। वर्षों से करीब 700 से अधिक की आबादी वाले इन गांवों में दो से तीन किमी तक पैदल चलना पडता है। ग्रामीण लंबे समय से शासन-प्रशासन एवं लोक निर्माण विभाग से मोटर सड़क के निर्माण की मांग करते आ रहे हैं बावजूद इसके शासन-प्रशासन के स्तर पर ग्रामीणों की जायज मांग पर कोई भी ध्यान नही दिया जा रहा है। जिससे ग्रामीण में आशा रोष व्याप्त है। गांव के ग्रामीण रणजीत सिंह जनधारी, अनसूया प्रसाद जोशी, रमन सिंह, भक्त सिंह भंडारी, देवानंद कोठारी, जय वीर भंडारी, कलम रावत, रणजीत रावत आदि का कहना है कि पिछले एक दशक से भी अधिक समय से क्षेत्र के ग्रामीण यातायात सुविधा की मांग करते हुए आ रहे हैं। लेकिन कोई उचित समाधान नहीं हो रहा है। जिससे ग्रामीणों को मजबूरन चुनाव के बहिष्कार का कदम उठाना पडेगा। इधर उपजिलाधिकारी थराली परमानंद राम का कहना है कि मामले का संज्ञान लिया जा रहा है। ग्रामीणों की समस्या को शासन तक पहुंचाया जायेगा ताकि जल्द से समाधान हो सके।

To Top