*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

मौसम की बेरूखी के चलते काश्तकार परेशान, नल लगाकर कर रहे खेतों में सिंचाई

12-07-2019 19:30:25

गोपेश्वर (जगदीश पोखरियाल)। चमोली जिले के कई स्थानों पर हल्की बारिश तो रही है पर वह इतनी कम है कि उससे काश्तकार सिंचाई नहीं कर पा रहे वहीं बारिश न होने से प्राकृतिक जल स्रोत भी सूखे पड़े हैं ऐसे में काश्तकार खेतों में नल लगाकर धान की बुआई करने के लिए मजबूर है।


आजकल पहाड़ों में धान की रोपाई की जाती है। लेकिन चमोली जिले के  अधिकांश क्षेत्रों में बारिश औसत से भी कम हो रही है। जिससे किसान खेतों में खड़ी धान की पौध भी खेतों में सूखने लगी है। जिससे काश्तकारों के चेहरे भी मुरझाने लगे है। यदि समय रहते बारिश नहीं होती है तो काश्तकारों को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। गंगोलगांव के कुछ काश्तकारों ने गांव के आसपास की जमीन पर तो नल से पानी लगाकर अपने खेतों में रोपाई का काम शुरू किया है लेकिन दूर दराज के खेतों में नल से पानी पहुंचाना संभव नहीं हो पा रहा है। गांव के मुकेश सिंह रावत, बृजेश रावत, कन्हैया, विनय आदि का कहना है कि बारिश न होने से इस बार धान की रोपाई समय से नहीं हो पायी है। जिस कारण उनकी खेतों में खड़ी धान की पौध भी अब सुखने लगी है। ऐसे में उन्होंने गांव के नजदीक के खेतों में नल से पानी लगाकर रोपाई करने का निर्णय लिया परंतु दूर दराज के खेतों में यह संभव नहीं है। ऐसे में मौसम पर ही सब निर्भर करता है।