कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे बना मुसीबत का सबब

Publish 01-02-2019 16:53:10


कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे बना मुसीबत का सबब

थराली/चमोली(रमेश थपलियाल)। चमोली जिले के कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाइवे पर भारत माला प्रोजेक्ट के तहत मोटर मार्ग पर सुधारीकरण का कार्य चल रहा है। लेकिन कार्यदायी संस्था सीमा सडक संगठन की कार्यप्रणाली से जनता में आक्रोश है। सुधारीकरण की जगह पूरी सड़क  गड्ढों में तब्दील हो गये है। हल्की सी बारिश में इन गड्ढों में मलवा और पानी जमा हो रहा है, जिससे राहगीरों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। बीआरओ की लचर प्रणाली उसके कार्य में साफ झलक रही है। काल जागर, हर्मनी, कुलसारी, सुनला, बुसेड़ी, थराली, लोल्टी से लेकर करूलपानी सहित दो दर्जन से अधिक जगहों पर सड़क पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील हो गई है।

क्षेत्र के राजेंद्र सिंह नेगी, कालिका प्रसाद, भगोत सिंह, हरेंद्र सिंह, उमेश पुरोहित, खिलाप सिंह आदि का कहना है  कि करोड़ों रुपया खर्च करने के बावजूद सड़क की स्थिति बदहाल है और जगह-जगह पुस्ते, स्क्रबर, कोजवे क्षतिग्रस्त हैं। सडक की इतनी बुरी दशा है कि वाहनो के साथ ही आम लोगों का सडक पर चलना मुसीबत भरा है। सडक की गुणवत्ता को लेकर जनता समय-समय पर विरोध करती आ रही है। लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। कहा कि यदि सड़क निर्माण के कार्य में गुणवत्ता नहीं रखी गई तो कुछ समय बाद ही सड़कें जर्जर स्थिति में पहुंच जाएगी।
क्या कहते है अधिकारी
बीआरओ के कमान अधिकारी नागेंद्र कुमार का कहना है कि निर्माण कार्य चल रहा है और जहां कहीं गड्ढे होंगे तुरंत भरवाए जाएंगे।

To Top