टैक्स वसूली करने गए कर्मचारियों नहीं दिया टैक्स, बताया सुविधाओं का अभाव

Publish 18-03-2019 19:23:02


टैक्स वसूली करने गए कर्मचारियों नहीं दिया टैक्स, बताया सुविधाओं का अभाव



अल्मोड़ा 30 अगस्त, नंदादेवी मेला समिति के साथ जिलाधिकारी नितिन भदौरिया ने बैठक कर नंदादेवी मेले को लेकर व्यापक परिचर्चा की। तय किया कि, इस बार भी ऐतिहासिक-पौराणिक दृष्टि से महत्वपूर्ण नंदादेवी मेला भव्यता के साथ 14 सितंबर से 21 सितम्बर तक आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर विविध प्रतियोगिताएं एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
       गुरूवार को कलेक्ट्रेट में हुई बैठक में नंदादेवी मेला समिति के संयोजक मनोज सनवाल ने जिलाधिकारी को अवगत कराते हुए कहा कि चौदह सितंबर को सांस्कृतिक नगरी के प्रसिद्ध नंदादेवी मेले का शुभारंभ परंपरागत तरीके से कदली के खाम आमंत्रण के साथ किया जाएगा। जिन्हें डयोरी पोखर व बाजार होते हुए नन्दादेवी मन्दिर में लाया जाएगा। पदाधिकारियों ने कहा कि कार्यक्रमों की श्रृंखला में चौदह सितंबर को ऐपण व महेंदी प्रतियोगिताएं आयोजित होंगीं। पंद्रह को फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता, सोलह को विद्यालय के बच्चों का सांस्कृतिक जुलूस निकाला जायेगा। सांस्कृतिक जलूस में विद्यालयों के बच्चो को लाने की व्यवस्था मुख्य शिक्षाधिकारी द्वारा की जायेगी। मेला अवधि में पॉलीथीन पूर्णरूप से प्रतिबंधित रहेगा। साथ ही मेला परिसर में घरेलू गैस सिलेण्डर भी प्रतिबंधित होंगे। मेले की व्यवस्थाओं व टेलीफोन, बिजली के तार हटाने आदि का संयुक्त निरीक्षण सात सितम्बर को किया जायेगा। 17 सितम्बर को महिला झौड़ा प्रतियोगिता आयोजित होगी। 18 को कुमाउनी हिंदी गायन प्रतियोगिता, 19 को भल इज एवं महिलाओं की विभिन्न प्रतियोगिताएं, 20 को महिलाओं द्वारा सांस्कृतिक जलूस एवं स्वांग प्रतियोगिता होगी। 21 सितम्बर को मां नन्दा सुनन्दा की शोभा यात्रा निकाली जायेगी। इस मेले का समापन 21 सितम्बर को डोला विर्सजन के साथ होगा। बैठक मंे थानाध्यक्ष चन्द्रमोहन सिंह बिष्ट, मेला कमेटी के अध्यक्ष मनोज वर्मा, दिनेश गोयल, मनोज सनवाल, अनूप साह, तारू जोशी, एलके पंत व जीवन गुप्ता ने अनेक बातों पर चर्चा की और कहा कि सभी का प्रयास होगा कि यह मेला शांतिपूर्ण ढ़ग से सम्पन्न हो। साथ ही अनुरोध किया कि मेला अवधि के दौरान निर्माण कार्य पर रोक लगायी जाय ताकि श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की असुविधा न हो। मेला समिति द्वारा जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि इस मेले को सम्पन्न कराने के लिये 5 लाख रुपये की आवश्यकता पड़ेगी।

To Top