टैक्स वसूली करने गए कर्मचारियों नहीं दिया टैक्स, बताया सुविधाओं का अभाव

Publish 18-03-2019 19:23:02


टैक्स वसूली करने गए कर्मचारियों नहीं दिया टैक्स, बताया सुविधाओं का अभाव

गोपेश्वर/चमोली(जगदीश पोखरियाल)।  चमोली जिले के पोखरी के मोहनखाल बाजार में साफ-सफाई, पथ प्रकाश, पेयजल और शौचालय की व्यवस्था न होने पर सोमवार को बाजार में टैक्स वसूलने गई चमोली जिला पंचायत की टीम को दुकानदारों ने बिना टैक्स दिए ही लौटा दिया। व्यवसायियों का कहना है कि बाजार में जिला पंचायत की ओर से कोई सुविधा नहीं दी गई है। ऐसे में पंचायत को कर अदायगी का भी कोई हक नहीं है।
मोहनखाल बाजार में कोई सुविधा नहीं है। यहां जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। रुद्रप्रयाग और चमोली जिले के मध्य में स्थित मोहनखाल पर्यटन स्थली है। सोमवार को चमोली जिला पंचायत की टीम मोहनखाल में वार्षिक टैक्स वसूलने पहुंची। तो व्यवसायियों ने टीम का विरोध किया। पुस्तक विक्रेता देवी प्रसाद थपलियाल और ओम प्रकाश नेगी ने कहा कि प्रतिवर्ष जिला पंचायत बाजार में टैक्स वसूली करने पहुंचती है। लेकिन कई बार गुहार लगाने के बावजूद भी बाजार में स्ट्रीट लाइटें नहीं लगाई जा रही हैं। जिससे शाम होते ही बाजार में अंधेरा पसर जाता है। साफ-सफाई के लिए कोई पर्यावरण मित्र नहीं रखा गया है। जिससे पुलिस चैकी से लेकर बुडाकट्ठा तक जगह-जगह गंदगी का आलम है। इस ओर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है। कहा गया कि जिला पंचायत पहले सुविधा दें, इसके बाद दुकानदार प्रतिवर्ष टैक्स जमा करेंगे। इधर, जिला पंचायत के प्रशासनिक अधिकारी मातबर सिंह नेगी का कहना है कि व्यवसायियों की मांगों को बोर्ड के सम्मुख रखा जाएगा। बाजार में सार्वजनिक शौचालय निर्माण के लिए जगह का प्रस्ताव मांगा जाएगा। स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण किया जाएगा। बाजार में सफाई की भी उचित व्यवस्था की जाएगी।

 

To Top